Top
undefined
Breaking

बढ़ते केस से चिंतित हरियाणा चाह रहा लॉकडाउन-5, फिर सील किया दिल्ली बार्डर

हरियाणा- दिल्‍ली बार्डर को फिर सील कर दिया गया है। इसके साथ ही वह 31 मई के बाद लॉकडाउन 5 लगाए जाने के पक्ष में है।

बढ़ते केस से चिंतित हरियाणा चाह रहा लॉकडाउन-5, फिर सील किया दिल्ली बार्डर

चंडीगढ़, हरियाणा में पिछले कुद दिनों से कोरोना के नए मरीजाें की संख्‍या में वृद्धि से राज्‍य सरकार चिंंतित है और इसको लेकर अधिक सतर्क हाे गई है। इस कारण हरियाणा- दिल्‍ली बार्डर को फिर सील कर दिया गया है। इसके साथ ही वह 31 मई के बाद लॉकडाउन 5 लगाए जाने के पक्ष में है। हरियाणा सरकार ने सोनीपत, गुरुग्राम और फरीदाबाद में दिल्‍ली बार्डर काे सील कर‍ दिया है और सख्‍ती का आदेश दिया है। शुक्रवार सुबह से ही हरियाणा के दिल्‍ली से जुड़ी सीमाओं पर सख्‍ती बरती जा रही है। लॉकडाउन लगाने को लेकर यूं तो हरियाणा अक्सर केंद्र सरकार के फैसले के साथ चलता है, लेकिन गृह मंत्री अनिल विज की राय है कि प्रदेश में लॉकडाउन-फाइव लगना चाहिए। गृह मंत्री एनसीआर की वजह से हरियाणा में बढ़ रहे कोरोना पॉजिटिव केस से खासे चिंतित हैं। उन्होंने इसका कारण दिल्ली से संक्रमित लोगों की आवाजाही को बताया है। गृह मंत्री विज ने लोगों की आवाजाही रोकने के लिए दिल्ली बार्डर पर फिर से सख्ती करने तथा उसे सील करने के आदेश जारी किए हैं।

हरियाणा गृह मंत्री अनिल विज ने गृह सचिव को पत्र लिखखर दिए सख्ती बरतने के निर्देश

हरियाणा में कोरोना के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है। हालांकि ठीक होने वाले लोगों का प्रतिशत भी 64 के आसपास है। विज के अनुसार एनसीआर में पड़ते हरियाणा के जिलों सोनीपत, गुरुग्राम, फरीदाबाद व झज्जर में सबसे ज्यादा केस आ रहे हैं। कुछ केस पलवल, पानीपत में भी हैं। इसलिए उन्होंने गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव विजयवर्धन को पत्र लिखकर दिल्ली बार्डर पूरी तरह से सील करने के आदेश दिए हैं।

कंटेनमेंट जोन की अवधि 14 दिन करने के लिए डा. हर्षवर्धन को भी लिखा पत्र

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने कहा कि दिल्ली से जुड़े क्षेत्रों में कोरोना की संख्या बढ़ते जाना चिंताजनक है। जिन कैटेगरी को केंद्रीय गृह मंत्रालय व कोर्ट ने आने जाने की छूट दी है, उनके अलावा अन्य लोगों के आवागमन पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने को कहा गया है। उन्होंने इस कार्य में दिल्ली सरकार से भी सहयोग मांगा है। उधर, कंटेनमेंट जोन की अवधि 18 दिनों की जगह 14 दिन करने के लिए गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री विज ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डा. हर्षवर्धन को भी पत्र लिखा है।

अमेरिका से डिपोर्ट लोगों से कबूतरबाजों ने वसूले लाखों रुपये, मुकदमे दर्ज होने शुरू

उन्होंने बताया कि अमेरिका से डिपोर्ट होकर आए लोगों को विदेशों में भेजने के काम में कबूतरबाजों का हाथ है। इस काम में लगे लोगों पर शिकंजा कस दिया गया है। एक एक व्यक्ति से लाखों रुपया कबूतरबाजी में लगे लोगों ने वसूला है। इस मामले में अभी पूछताछ चल रही है। गृह मंत्री विज के अनुसार प्रारंभिक सूचनाओं के आधार पर कहा जा सकता है कि काफी कुछ निकलने वाला है। कुछ कबूतरबाजों के खिलाफ मुकदमे भी दर्ज हो चुके हैं। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि जिस तरह से केस बढ़ रहे हैं, उसके मद्देनजर लॉकडाउन फाइव होना चाहिए। केंद्र सरकार यदि राज्यों से राय लेगा तो हरियाणा की ओर से यह सुझाव दिया जाएगा कि लॉकडाउन फाइव जरूरी है।

Next Story
Share it
Top