Top
undefined
Breaking

रिसर्च में हुआ खुलासा- महिलाओं की तुलना में पुरुष होते हैं झूठ बोलने में माहिर

कई तरह की कहावतें झूठ बोलने पर कही जाती हैं जैसे झूठ बोले कौवा काटे वगैरह। इतना ही नहीं झूठ बोलना अच्छी आदत नहीं होती ऐसा भी लोग बोलते हैं।

रिसर्च में हुआ खुलासा- महिलाओं की तुलना में पुरुष होते हैं झूठ बोलने में माहिर

कई तरह की बातें झूठ को लेकर कहते हैं। कई तरह की कहावतें झूठ बोलने पर कही जाती हैं जैसे झूठ बोले कौवा काटे वगैरह। इतना ही नहीं झूठ बोलना अच्छी आदत नहीं होती ऐसा भी लोग बोलते हैं। लेकिन कई बार झूठ किसी की भलाई के लिए बोला जाता है तो वह झूठ नहीं होता। इसी बीच एक ऐसा शोष सामने आया है जिसने पता चला है कि पुरुष बेहतर तरीके से झूठ बोलते हैं महिलाओं के मुकाबले में। यह एक रिसर्च में पता चला है। महिलाओं की तुलना में पुरुष सबसे बेहतर झूठ बोलते हैं। ब्रिटेन की पोर्ट्समाउथ यूनिवर्सिटी के मुताबिक जो झूठ बोलने में माहिर होते हैं वह अच्छे वक्ता होते हैं। दूसरे लोगों के मुकाबले परिवार, दोस्तों, पार्टनर और सहयोगियों की तुलना में यह ज्यादा झूठ बोलते हैं। शोधकर्ताओं के अनुसार, जो झूठ बोलने में माहरथी होता है वह मैसेज की बजाय आमने-सामने बैठकर झूठ बोलना ज्यादा पसंद करते हैं। ऐसी ही सोशल मीडिया जगह हैं जहां पर यह लोग कम झूठ बोलते हैं। इन्हें यहंा पर झूठ बोलना पसंद नहीं होता। एक अध्ययन में प्रकाशित हुआ है कि जो लोग आधे झूठ बोलते हैं उनकी संख्या बहुत कम है। बता दें कि अपने करीबियों से छुटकारा आपने के लिए यह लोग झूठ बोलते हैं या फिर उनसे माफी मांगने के लिए बोलते हैं।  झूठ बोलने के मामले में एक दूसरे अध्ययन में बताया गया है कि आमतौर पर तीन झूठ एक पुरुष दिन भर में बोलता है और लगभग 1,092 बार झूठ शख्स पूरे साल झूठ बोलता है। वहीं एक महिला 728 बार झूठ पूरे साल बोलती हैं।  इस अध्ययन में यह भी बताया गया है कि महिलाएं झूठ कुछ विशेष परिस्थितियों में ही ज्यादा बोलती हैं। मतलब जब वह कपड़े खरीदती हैं तब वह झूठ ज्यादा बोलती हैं।  अध्ययन में बताया गया है कि जिंदगी को सहज बनाने के इरादे से भी लोग झूठ बोलते हैं। ऐसा भी बताया गया है कि महिलाओं की तुलना में पुरुषों के मुंह से ज्यादा झूठ बोला जाता है और यह सारी बातें अब इन सभी अध्ययनों के जरिए सच हो चुकी है।

Next Story
Share it
Top