Top
undefined
Breaking

विदिशा में बिना हाथ-पैर के जन्मी बच्ची, डॉक्टरों ने दुर्लभ बीमारी को बताया कारण

डॉक्टरों के मुताबिक इस बीमारी के कारण कई बार शरीर के कुछ अंग या तो निर्मित नहीं हो पाते या पूरी तरह विकसित नहीं हो पाते। डॉक्टरों ने इसे एक जेनेटिक समस्या बताया है।

विदिशा में बिना हाथ-पैर के जन्मी बच्ची, डॉक्टरों ने दुर्लभ बीमारी को बताया कारण

विदिशा: मध्य प्रदेश के विदिशा जिले में एक ऐसी बच्ची ने जन्म लिया है, जिसकी असामान्य शारीरिक बनावट ने परिवार सहित गांववालों को हैरानी में डाल दिया है। 26 जून को जन्मी इस बच्ची के शरीर में सिर्फ सिर और धड़ है। शरीर में न तो एक भी हाथ है और न कोई पैर और इसको देखकर ही सब हैरान हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक ये एक बहुत दुर्लभ बीमारी है।

बच्ची पूरी तरह से स्वस्थ

विदिशा में सिरोंज तहसील के सांकला गांव में शुक्रवार 26 जून की रात इस बच्ची का जन्म हुआ। हालांकि बच्ची के शरीर में हाथ और पैर नहीं हैं, जो कि टेट्रा-एमेलिया सिंड्रोम के कारण हुआ है। इस बच्ची की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक सिरोंज के सरकारी अस्पताल के एक डॉक्टर ने बताया कि बच्ची के शरीर में इन अंगों की कमी के अलावा किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं है और उसका स्वास्थ्य बिल्कुल ठीक है। रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि बच्ची का जन्म घर में ही उसकी दादी ने किया और बच्ची का परिवार उसे अस्पताल नहीं ले जाना चाहता। उनका मानना है कि ये भगवान की देन है।

1 लाख नवजात में 1 मामला

माना जा रहा है कि ये बीमारी 1 लाख नवजात में से सिर्फ एक में पाई जाती है। ये एक जेनेटिक बीमारी है, जिसमें शरीर के कुछ हिस्सों का या तो निर्माण नहीं हो पाता या फिर उनका पूरी तरह से निर्माण नहीं होता। हालांकि परिवार का दावा है कि इस बच्ची से पहले परिवार में कोई भी सदस्य किसी भी तरह की शारीरिक कमी के साथ पैदा नहीं हुआ।

Next Story
Share it
Top