खेल
भारत के फैसले से पाकिस्तान में हड़कंप: प्रधानमंत्री मोदी
By Swadesh | Publish Date: 23/2/2019 4:41:05 PM
भारत के फैसले से पाकिस्तान में हड़कंप: प्रधानमंत्री मोदी

जयपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक बार फिर आतंकवाद और आतंकवाद को शह देने वाली ताकतों पर जमकर हमला बोला है। राजस्थान के टोंक में शनिवार को भाजपा की रैली को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि हमारे फैसलों से पाकिस्तान में हड़कंप मचा हुआ है। 

 
पुलवामा हमले के शहीदों को नमन करते हुए पीएम ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पूरा विश्व भारत के साथ मजबूती के साथ खड़ा है। दुनिया के ज्यादातर देशों ने पुलवामा हमले की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि हमारे बहादुर जवानों ने हमले के 100 घंटे के भीतर ही आतंकी साजिश के गुनाहगारों को वहां पहुंचा दिया है, जहां उनका जाना था। पीएम मोदी ने कहा, 'सीमा पर डटे वीर सैनिक, मोदी सरकार और मां भवानी पर विश्वास रखिये, इस बार हिसाब पूरा होगा। मानवता के दुश्मनों को हम चुन-चुनकर सबक सिखाएंगे और पूरी दुनियां में उनका दाना-पानी बंद होगा। आपका प्रधान सेवक इसी काम में लगा हुआ है।'
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि आतंकी फैक्टरी पर ताला लगाने का काम भी मेरे ही हिस्सा लिखा है तो यह काम भी पूरा होगा। देश में आतंक के खिलाफ आक्रोश है। हम हर मोर्चे पर मजबूती के साथ आगे बढ़ रहे हैं। यह राजनीति से ऊपर राष्ट्रनीति, राष्ट्र की रक्षा और सुरक्षा का सवाल है। एक-एक करके पाकिस्तान से हिसाब लिया जा रहा है। अलगाव को हवा देने वालों के खिलाफ कार्रवाई सख्त हुई है। मोदी ने एक बार फिर दोहराया कि यह नई रीति और नई नीति वाला हिन्दुस्तान है। हमारी लड़ाई आतंकवाद और मानवता के दुश्मनों से है, इसलिए सेना को पूरी छूट दी गई है।
 
'हमारी लड़ाई कश्मीर के लिए है, कश्मीर के खिलाफ नहीं' 
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारी लड़ाई कश्मीर के लिए है, कश्मीर के खिलाफ नहीं है। आज हर कश्मीरी आतंकवाद से परेशान और दुखी है। कश्मीर 40 साल से आतंकवाद से जूझ रहा है। उन्होंने देश की जनता से आग्रह किया कि कश्मीरी युवाओं की हिफाजत करना भी हमारी जिम्मेदारी है। 'भारत तेरे टुकड़े' कहने वाली गैंग को बढ़ावा नहीं दें। उन्होंने कहा कि कश्मीर के लोग आतंकवाद के सबसे ज्यादा शिकार हैं और आए दिन उनकी गोली का निशाना बन रहे हैं। जब आतंकवाद के खिलाफ जंग होती है तो उसमें कश्मीर के लाल भी शहीद होते हैं। आतंकवाद को जड़ से उखाड़ना है। पीएम ने कहा कि कश्मीर और कश्मीरियों के सपने पूरे होंगे और यह काम हिन्दुस्तान और हिन्दुस्तान की सरकार करेगी।
 
पाक पीएम पर पर साधा निशाना
पीएम मोदी ने पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान से चुनाव जीतने के बाद फोन पर हुई बातचीत का हवाला देते हुए कहा कि मैंने फोन पर इमरान को बधाई दी थी। मैंने उनसे कहा था कि हम बहुत लड़े हैं, पाकिस्तान कुछ नहीं कर पाया। हर लड़ाई हमने जीती है। अब हमें गरीबी और अशिक्षा के खिलाफ लड़ना है। तब इमरान खान ने कहा था कि मैं पठान का बच्चा हूं, सच्चा बोलता हूं और सच्चा लड़ता हूं। मैं देखता हूं वे अपने शब्दों पर खरे उतरते हैं या नहीं?
 
प्रधानमंत्री ने देश में रहकर पाकिस्तान की भाषा बोलने वाले लोगों की हरकतों पर अफसोस जताते हुए कहा कि भारत में रहते हुए जो लोग पाकिस्तान की भाषा बोलते हैं, जो पाकिस्तान जाकर कहते हैं कुछ भी करो लेकिन मोदी को हटाओ। उन्होंने कहा कि ये वही लोग हैं जो मुंबई हमले के बाद आतंक के सरपरस्तों को जवाब देने की हिम्मत नहीं दिखा पाए थे। राजस्थान में इन्हीं लोगों ने कहा था कि सत्ता में आए तो दस दिन में किसानों का कर्जा माफ कर देंगे, लेकिन आज तक कर्जा माफ नहीं कर पाए। झूठ बोलना इनकी फितरत में है। कर्ज माफी की कलई खुल रही है। हमारी सरकार जो वादा करती है वो निभाती है। हमने किसानों से लागत का डेढ़ गुना देना समर्थन मूल्य देने का वादा किया था, वह पूरा कर दिया है।
 
सरकार की उपलब्धियां गिनाई
कांग्रेस पर तल्ख टिप्पणी करते हुए पीएम ने कहा कि कांग्रेस को चुनाव से पहले कर्जमाफी का बुखार आता है। 2008 के चुनाव में कांग्रेस ने किसानों का कर्जा माफ करने की घोषणा की थी, लेकिन 100 में 20-25 किसानों को ही उसका फायदा मिला। अब हमने जो योजना बनाई है, उसमें लगभग 100 में 90 किसानों को उसका फायदा होगा। हमारी योजना किसान का भला करेगी। इसका फायदा किसानों को हर साल मिलेगा। आने वाले दस वर्ष प्रधानमंत्री किसान सम्मान से साढ़े सात लाख करोड़ रुपये सीधे किसानों के बैंक खाते में जमा होने वाला है। यह होती है साफ नीयत और सही नीति। राजस्थान के 50 लाख किसानों को इसका लाभ मिलने वाला है। अब छोटी-छोटी चीजों के लिए किसानों को सहूकारों से मुक्ति मिलेगी। गौसंवर्धन के लिए हमारी सरकार ने बड़ा काम किया है। उन्होंने उज्जवला, वन रैंक वन पेंशन, प्रधानमंत्री बीमा, गरीब सवर्णों को दस फीसदी आरक्षण और राष्ट्रीय पोषण अभियान समेत केन्द्र सरकार की कई योजनाओं और उपलब्धियों को गिनाया। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS