देश
घाटी के बदलते हालातों में खत्म हुआ अलगाववादियों के फतवों का डर
By Swadesh | Publish Date: 23/8/2019 4:13:27 PM
घाटी के बदलते हालातों में खत्म हुआ अलगाववादियों के फतवों का डर

श्रीनगर। कश्मीर घाटी में हालात अब तेज़ी से सामान्य होते नज़र आ रहे हैं। कश्मीर के लोग अब अमन और शांति चाहते हैं। अलगाववादियों के फतवों का भी भय अब घाटी से समाप्त होता दिखाई दे रहा है और लोग अपने प्रदेश में प्रगति होते देखना चाहते हैं। कश्मीर घाटी के ज्यादातर हिस्सों से दिन का प्रतिबंध हटा लिया गया है और जिनमें लगा है उनमें भी चरणबद्ध तरीके से ढील दी जा रही है। आज जुमे की नमाज के दौरान भी शांति रही। 

 
शुक्रवार को भी यहां पर प्राथमिक तथा माध्यमिक स्कूल खुले हैं और पहले के मुकाबले आज छात्रों की संख्या ज्यादा देखी जा रही है। बाजारों में रेहड़ी फड़ी वाले लोगों की जरूरत का सामान बेचते और कश्मीर की जनता सड़कों पर उन्हें खरीदती नज़र आ रही है। हालात सामान्य होने के चलते सुरक्षाबलों के जवान दिन में केवल संवेदनशील स्थानों पर ही तैनात दिखाई दे रहे हैं। शुक्रवार को कश्मीर घाटी में हालात पिछले कई दिनों से बेहतर नज़र आए। सवेरे बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं अपने-अपने स्कूलों को तरफ जाते दिखाई दिए। इसी के साथ सड़कों पर निजी वाहनों की भारी भीड़ देखी गई। 
 
इस दौरान ज्यादातर दुकानें व पेट्रोल पम्प भी खुले नज़र आए और अब धीरे-धीरे व्यापारिक प्रतिष्ठान भी खुलना शुरू हो गए हैं। इसी बीच कश्मीर घाटी में 50 पुलिस थाना क्षेत्रों में दिन का प्रतिबंध पूरी तरह से हटा लिया गया है। इसके अलावा अन्य थानों में अधिकारियों से कहा गया है कि पाबंदियों को सख्ती से लागू न किया जाए। लोग अब पिछले कई दशकों से चले आ रहे अलगाववादियों के फतवों से छुटकारा पाना चाहते हैं क्योंकि इन्हीं फतवों के कारण कश्मीर में विकास को गति नहीं मिली है और तकरीबन हर रोज़ जलूस, प्रदर्शन और पत्थराव के लिए कश्मीरी युवाओं को भड़काया व उकसाया जाता था। कश्मीर घाटी में फिलहाल मोबाइल, इंटरनेट तथा ब्राडबैंड सेवा बंद है जबकि कश्मीर घाटी के ज्यादातर इलाकों में लैंडलाइन सेवा बहाल कर दी गई है। इसी बीच गुरुवार को भी कुछ छिटपुट पत्थराव की घटनाओं को छोड़कर स्थिति शांतिपूर्ण है। 
 
दूसरी तरफ जम्मू सहित उधमपुर, सांबा, रियासी, कठुआ जिलों में स्थिति नियंत्रण में तथा शांतिपूर्ण बनी हुई है। यहां पर सभी दुकानें, व्यापारिक प्रतिष्ठान, शिक्षा संस्थान तथा हर प्रकार का यातायात सामान्य रूप से खुला है जबकि मोबाइल इंटरनेट फिलहाल बंद है। इसी बीच राजौरी, पुंछ, डोडा किश्तवाड़ में स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही है। इन जिलों में स्कूल खुले हैं लेकिन मोबाइल तथा मोबाइल इंटरनेट सेवा फिलहाल बंद है। इस दौरान कोई भी अप्रिय घटना न हो इसे सुनिश्चित करने के लिए सुरक्षबलों के जवान सतर्क हैं।  
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS