देश
राष्ट्र की सुरक्षा सर्वोपरि: अमित शाह
By Swadesh | Publish Date: 19/10/2019 3:47:09 PM
राष्ट्र की सुरक्षा सर्वोपरि: अमित शाह

मुंबई।  केंद्रीय गृह मंत्री एवं भाजपा के  राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि राष्ट्र की सुरक्षा सर्वोपरि है लेकिन कांग्रेस ने कभी भी राष्ट्र की सुरक्षा को सर्वोपरि नहीं माना। वे वीर सावरकर का हमेशा अपमान करते रहे। अमित शाह ने महाराष्ट्र में राष्ट्रवाद को महत्व देने वाले भाजपा गठबंधन के उम्मीदवारों के पक्ष में बड़ी संख्या में मतदान करने की अपील की। वह शनिवार को नंदूरबार जिले के नवापुर में एक चुनावी जनसभा को संबोधित कर रहे थे। 
 
अमित शाह ने कहा कि शरद पवार, राहुल गांधी और सोनिया गांधी बतायें कि जब 2007 में कांग्रेस सरकार ने कहा था कि हाजरा बीबी को देश के बाहर नहीं जाने दिया जाना चाहिए तो उस वक्त आपके मंत्री मुंबई बम हमलों में 300 से ज़्यादा लोगों की मौत के ज़िम्मेदार व्यक्ति के परिवार के साथ कमर्शियल एग्रीमेंट कैसे कर रहे थे? वीर सावरकर को कांग्रेस ने कभी सम्मान नहीं दिया। उनको वीर की उपाधि भारत की सवा सौ करोड़ जनता ने दी है। वीर सावरकर आजीवन भारत माँ की आजादी के लिए लड़ते रहे। वे केवल महाराष्ट्र के ही सपूत नहीं बल्कि पूरे हिंदुस्तान की आन बान और शान थे और कांग्रेस उन्हें अपमानित करने में लगी है।
 
उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र छत्रपति शिवाजी, वीर सावरकर और बालगंगाधर तिलक जैसे महान राष्ट्रभक्तों की भूमि है और राकांपा व कांग्रेस के नेता कह रहे हैं कि कश्मीर व 370 का महाराष्ट्र से क्या लेना देना है? अमित शाह ने कहा कि मैं शरद पवार और कांग्रेस को बता दूं कि यहां बच्चा-बच्चा देश के लिए सर्वस्व अर्पण करने को तैयार है। एक समय प्रचार किया जाता था कि विकास नहीं होने के कारण नक्सलवाद पनपता है लेकिन वास्तव में नक्सलवाद विकास का धुर विरोधी है। आदिवासी क्षेत्रों में सडक़, बिजली, पानी, शिक्षा, रेल और अस्पताल पहुंचाने में नक्सली बाधा डालते हैं परन्तु पिछले पांच वर्षों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इन पर लगाम कसने का काम किया है। 
 
शाह ने कहा कि दुनिया में दो ही देश ऐसे हैं जो अपने जवानों के खून का बदला लेते हैं। एक अमेरिका और दूसरा इजराइल है। इन दो देशों की सूची में प्रधानमंत्री मोदी ने तीसरा नाम भारत का जोडऩे का काम किया है। उनकी सरकार राष्ट्रवाद को केंद्र बिंदु में रखकर वीर जवानों की रक्षा के लिए काम कर रही है। 
 
अमित शाह ने कहा कि देश में जितने भी ब्लॉक हैं, उसके अंदर एकलव्य के नाम से एकलव्य मॉडल स्कूल बनाने की शुरुआत प्रधानमंत्री मोदी ने की है, जो एकलव्य जनजाति समाज की आन-बान और शान का प्रतीक है। देश में सबसे ज्यादा सांसद जनजाति और ओबीसी समाज के अगर किसी पार्टी के हैं तो वो भाजपा के हैं। 115 आदिवासी जिले जो विकास की दौड़ में पीछे रह गए थे, उनका विकास नरेन्द्र मोदी ने सीधे प्रधानमंत्री कार्यालय से करने की शुरुआत की है।  मुझे आज गर्व है कि नरेन्द्र मोदी सरकार को आदिवासियों ने चुना है, देश के ओबीसी समाज ने चुना है। हमारे प्रधानमंत्री गरीब के घर से हैं। उनको गरीब की  परेशानी मालूम है। हमने देश में 10 करोड़ और नंदूरबार जिले में 1.67 लाख गरीब माताओं-बहनों को शौचालय देने का काम किया है।
 
गृह मंत्री  ने कहा कि शरद पवार हंसते हैं और कहते हैं, “मोदी और अमित शाह शौचालय को विकास कहते हैं। अरे पवार जी जिस घर में शौचालय नहीं होता है और मां-बहनों, बच्चियों को खुले में जाना पड़ता है, तब उनकी शर्मिंदगी आपको महसूस नहीं होगी, क्योंकि आपके बच्चों ने तो कभी गरीबी देखी ही नहीं है।”
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS