देश
भारत ने श्रृंखला में दूसरी बार दक्षिण अफ्रीका को दिया फॉलोआन
By Swadesh | Publish Date: 21/10/2019 2:39:57 PM
भारत ने श्रृंखला में दूसरी बार दक्षिण अफ्रीका को दिया फॉलोआन

आतंकी धमकियों के बावजूद परीक्षाओं की तैयारी के लिए स्कूल पहुंच रहे हैं छात्र

श्रीनगर।
कश्मीर घाटी में तेज़ी से हालात सुधर रहे हैं। सभी शिक्षण संस्थान खुले हैं और आतंकियों की धमकियों के बावजूद परीक्षाओं की तैयारी के लिए छात्र अब स्कूलों का रुख कर रहे हैं। छात्र-छात्राएं राज्य प्रशासन के कश्मीर घाटी के प्रत्येक जिला मुख्यालय में स्थापित किए गए इंटरनेट कैफे का भी निशुल्क लाभ उठा रहे हैं। यह कैफे छात्रों को उनकी परीक्षाओं में काफी मददगार साबित हो रहे हैं।
 
इसी बीच बोर्ड ने कश्मीर डिवीजन तथा जम्मू संभाग के विंटर जोन वाले क्षेत्रों की आठवीं, नौवीं की परीक्षाओं की डेटशीट भी पहले से ही जारी कर दी है। वहीं दसवीं तथा बारहवीं की बोर्ड परीक्षा इस माह के अंत में करवाई जाएगी। इसी के साथ ही परीक्षाओं के लिए बनाए जा रहे केंद्रों में भी भीतर व बाहरी सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं।

इस सबके बीच कश्मीर घाटी के किसी भी क्षेत्र में कोई प्रतिबंध नही है। केवल संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है। आतंकियों की लाख कोशिशें के बावजूद सेब घाटी से बाहर के राज्यों में पहुंचाया जा रहा है और कश्मीर के विभिन्न जिलों में सेब की मंड़ियां भी लगी हुई हैं।

सोमवार को भी कश्मीर घाटी में शांति कायम है। सभी शिक्षण संस्थान खुले हैं और अब यहां छात्रों को भी आते-जाते देखा जा रहा है। यहां के युवा आतंक को दर किनार कर अब खेलों की तरफ अपना ध्यान लगा रहे हैं ताकि स्वस्थ्य रहकर अपने राज्य का खेलों में नाम रोशन का सकें। सुबह-शाम दुकानें खुल रही हैं और लोग भी अपनी रोजमर्रा की जरूरत का सामान लेने के लिए अपने घरों से बाहर निकल रहे हैं। कार्यालयों में उपस्थिति सामान्य से ऊपर है।  रेहड़ी-फड़ी तथा खुले में जमीन पर सामान लगाने वालों का बाजार गर्म है। सड़कों पर वाहन अब दोगुनी संख्या में दौड़ रहे हैं। पर्यटक भी अब घाटी का रुख कर रहे हैं। सेब मंडियां भी लगी हुई हैं और सेब ट्रकों में भरकर दूसरे राज्यों व जम्मू में पहुंचाया जा रहा है। लैंडलाइन फोन तथा मोबाइल पोस्टपेड सेवा घाटी में सुचारू रूप से काम कर रही है जबकि प्री-पेड अभी बंद है। पूरे जम्मू कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सेवा फिलहाल बंद है।

कश्मीर घाटी की आम जनता को कही भी जाने की आजादी है। घाटी में पिछले दिनों हुई आतंकी वारदातों को देखते हुए सभी संवेदनशील इलाकों में अतिरिक्त सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है तथा बाकी इलाकों में जवानों की सतर्कता बढ़ा दी गई है।

 

COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS