Ad
ब्रेकिंग न्यूज़
पदमा शुक्ला हुई बागी, भाजपा का साथ छोड़ थामा कांग्रेस का हाथUN ग्लोबल मीडिया कॉम्पैक्ट में भारत का सूचना प्रसारण मंत्रालय शामिलकांग्रेस का वित्त मंत्री पर पलटवार, 'मोदी सल्तनत के दरबारी विदूषक' बनने को बेताब हैं अरुण जेटलीजम्मू कश्मीर : नियंत्रण रेखा के पास सुरक्षाबलों का आतंक निरोधक अभियान, 3 आतंकियों को किया ढेरपश्चिम बंगाल में एक और हादसा, दक्षिण 24 परगना जिले में गिरा निर्माणाधीन पुलशिवराज सरकार में मंत्री दर्जा प्राप्त पदमा शुक्ला ने छोड़ी पार्टी, भाजपा में मचा हड़कंपअब क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों का भी होगा एकीकरण, संख्या घटकर होगी 36पाकिस्तान के खिलाफ मैच में रोहित-धवन ने की ताबड़तोड़ बैटिंग, बड़े-बड़े धुरंधरों के टूटे कई रिकॉर्ड
देश
रक्सौल-काठमांडू रेल परियोजना के कार्य में तेजी लायेगा नेपाल, भारत
By Swadesh | Publish Date: 11/7/2018 5:01:23 PM
रक्सौल-काठमांडू रेल परियोजना के कार्य में तेजी लायेगा नेपाल, भारत

 काठमांडू।  बिहार के रक्सौल से लेकर काठमांडू तक बननेवाली रेल लाइन के लिए प्रारंभिक इंजीनियरिंग-सह-यातायात सर्वेक्षण को लेकर एक समझौते पर हस्ताक्षर करने के लिए भारत और नेपाल के बीच सहमति बन गयी है।

 
तिब्बत को काठमांडो से जोड़ने वाली एक रेल लाइन के लिए व्यवहार्यता अध्ययन करने पर नेपाल और चीन के बीच सहमति बनने के कुछ ही हफ्तों के बाद यह घटनाक्रम हुआ है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली की भारत यात्रा के दौरान काठमांडू से रक्सौल को रेल लाइन से जोड़ने के लिए नेपाल और भारत के बीच सहमति बनी थी। रक्सौल-काठमांडू रेल लाइन के अलावा नेपाल और भारत के बीच सीमा के आर-पार पांच रेल लाइनों का निर्माण कार्य पहले ही शुरू कर दिया गया है। इसमें एक रेल लाइन जयनगर से जनकपुर-कुर्था के बीच एक साल के अंदर शुरू हो जायेगी।
 
नेपाल और भारत के वरिष्ठ सरकारी अधिकारी सोमवार को रक्सौल-काठमांडू रेल लाइन के सहमति पत्र (एमओयू) को अंतिम रूप देने पर सहमत हो गये हैं। भारत ने रक्सौल-काठमांडू रेल लाइन के एमओयू की विषय वस्तु भेज दी है। काठमांडू पोस्ट की खबर के मुताबिक, बैठक के दौरान दोनों देश ठोस प्रयास करने और सभी मुद्दों का फौरन हल करने पर सहमत हुए हैं ताकि जयनगर से जनकपुर-कुर्था के बीच और जोगबनी से बिराटनगर कस्टम यार्ड के बीच अक्तूबर 2018 तक पूरी हो जाये।
 
नेपाल की ओर से भौतिक आधारभूत संरचना एवं परिवहन (एमओपीआईटी) मंत्रालय के संयुक्त सचिव केशब कुमार शर्मा और भारत के विदेश मंत्रालय के संयुक्त सचिव (डीपीए -III) नमगया खामपा ने बैठक में हिस्सा लि.। बयान के मुताबिक कुर्था-बिजलपुर-बर्दीबास और बिराटनगर कस्टम यार्ड से बिराटनगर खंडों के शेष हिस्सों पर भी काम प्राथमिकता के आधार पर आगे बढ़ाने पर बैठक में सहमति बनी।
 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS