ब्रेकिंग न्यूज़
सोनभद्र जा रही प्रियंका को प्रशासन ने मिर्जापुर में रोकाबाबरी मस्जिद मामला: सुप्रीम कोर्ट ने बढ़ाया ट्रायल कोर्ट के जज का कार्यकालउज्बेकिस्तान में भारतीय राजदूत संतोष ने राष्ट्रपति से की मुलाकातकांग्रेस राज में हुई गड़बड़ी की देन है सोनभद्र नरसंहार की घटना: योगी आदित्यनाथउप्र विधानसभा: मुख्यमंत्री बोलते रहे, विपक्षी बेल में पहुंचकर नारेबाजी करते रहे, विधानसभा स्थगितरोज वैली चिटफंड घोटाला मामले में अभिनेता प्रसनजीत से पूछताछचांद तारा के निशान वाले हरे रंग के झंडे पर दो हफ्ते में जवाब दे केन्द्रप्रधानमंत्री ने लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस भाषण के लिए जनता से मांगे सुझाव
देश
राहुल के ‘चोकीदार चोर है’ अभियान के बचाव में आई कांग्रेस
By Swadesh | Publish Date: 23/4/2019 6:58:03 PM
राहुल के ‘चोकीदार चोर है’ अभियान के बचाव में आई कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस ने मंगलवार को पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के ‘चोकीदार चोर है’ कैंपेन का बचाव करते हुए कहा कि यह एक राजनीतिक अभियान है जिसे पार्टी ‘पहले, अब और आने वाले समय’ में चलाती रहेगी। जहां तक इसको सुप्रीम कोर्ट के साथ जोड़ने का विषय है उस पर राहुल पहले ही खेद जता चुके हैं। 

 
दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट ने भाजपा नेता मीनाक्षी लेखी की अवमानना याचिका पर सुनवाई करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को नोटिस जारी किया है। इस मामले पर अगली सुनवाई 30 अप्रैल को राफेल मामले की सुनवाई के साथ होगी। पिछले 15 अप्रैल को कोर्ट ने राहुल गांधी से सफाई मांगी थी।
 
इस पर पार्टी की ओर से पत्रकार वार्ता करते हुए उनके वकील एवं पार्टी प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि हमने सुप्रीम कोर्ट से निवेदन किया है कि भाजपा इसका राजनीतिकरण कर रही है। हमारे इस स्पष्टीकरण के आधार पर इस मुद्दे को आज खत्म किया जा सकता है। हालांकि कोर्ट ने इसे स्वीकार नहीं किया और अगली सुनवाई के लिए हमें नोटिस दिया। 
 
सिंघवी ने कहा कि राफेल सौदे में गड़बड़ी को लेकर पिछले लंबे समय से राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस पार्टी और राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी एवं अन्य दलों द्वारा एक राजनैतिक अभियान चल रहा है। इसकी मुख्य शब्दावली है- चौकीदार चोर है। अपने एफिडेविट में राहुल गांधी ने स्पष्ट किया है कि ये राजनीतिक अभियान उन्होंने शुरू किया था, आज भी चल रहा है और आगे भी चलेगा। साथ ही, सत्ता में आने पर इस मामले की विस्तृत जांच करने की बात भी कही है।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS