देश
पूरे देश मे मोदी लहर, एनडीए प्रत्याशी को जिताकर केंद्र में सरकार बनाएं : चिराग पासवान
By Swadesh | Publish Date: 26/4/2019 5:00:17 PM
पूरे देश मे मोदी लहर, एनडीए प्रत्याशी को जिताकर केंद्र में सरकार बनाएं : चिराग पासवान

आरा। आरा संसदीय सीट से एनडीए प्रत्याशी आरके सिंह ने शुक्रवार को आरा में अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। नामांकन के बाद आरा के वीर कुंवर सिंह मैदान में जनसभा को संबोधित करते हुए लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष और सांसद चिराग पासवान ने कहा कि आरके सिंह की जीत नरेंद्र मोदी की जीत होगी। उन्होंने आरके सिंह को विकास पुरुष बताते हुए कहा कि इन्होंने जो आरा में विकास के कार्य किये हैं, वह ऐतिहासिक हैं।

 
उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में गरीबों के साथ ही अन्य सभी वर्ग के लोगों के लिए किये गये कार्यो की चर्चा की और एक बार फिर देश मे नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनाने का दावा किया। चिराग पासवान ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने हर घर मे शौचालय बनाने से लेकर देश में मिसाइल बनाने तक के कार्य किये।
 
महिलाओं को धुंए से आजादी दिलाई और हर घर मे निःशुल्क गैस कनेक्शन दिया। महिलाओं की जिंदगी बदल दी और उन्हें धुंए से होने वाली कई बीमारियों से निजात दिलाया।
 
चिराग पासवान ने अपने पिता रामविलास पासवान के जीत के संदेश को आरा के लोगों तक पहुंचाते हुए जनता से स्वीकृति लेकर आरके सिंह को जीत की माला पहनायी। उन्होंने आरके सिंह को भारी मतों से जिताकर संसद पहुंचाने की अपील की।
 
जनसभा में बिहार के भाजपा नेता और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी के आने की खबर की गई थी किन्तु सुशील मोदी का दूर दूर तक कहीं नामो निशान नहीं था।
 
उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी के नहीं आने से एक बार फिर आरके सिंह के खिलाफ सुशील मोदी की साजिशों पर मुहर लग गई है। लोगों ने कहा कि सुशील मोदी आरा सीट को जीतने के पक्ष में नहीं हैं। जनसभा में लोगों की जुबान पर यह बात स्पष्ट रूप से सुनाई देती रही कि आरा सीट को हराने में सुशील मोदी पूरी ताकत लगाए बैठे हैं और आरके सिंह को भाजपा की राजनीति में हाशिये पर धकेलने में लगे हैं।
 
गत विधानसभा चुनाव के दौरान ही आरके सिंह ने सुशील मोदी पर विधानसभा का टिकट बेचने का आरोप लगाया था। तब से ही दोनों में राजनैतिक विरोध के स्वर गूंजने लगे थे।
 
आरके सिंह के नामांकन में भाजपा, जदयू और लोजपा के नेताओं ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया किन्तु भाजपा कार्यकर्ताओं की संख्या अपेक्षाकृत बहुत ही निराशाजनक रही।
 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS