मध्य प्रदेश
चम्बल में बढ़ा जल स्तर, कई गांव घिरे, दो को कराया खाली
By Swadesh | Publish Date: 17/8/2019 5:46:56 PM
चम्बल में बढ़ा जल स्तर, कई गांव घिरे, दो को कराया खाली

मुरैना। मध्यप्रदेश में शनिवार को बारिश थम गई है, जिससे लोगों ने राहत की सांस ली है, लेकिन पिछले दो दिन में हुई भारी बारिश के चलते चम्बल नदी का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। राजस्थान के कोटाबेराज बांध से पानी छोड़ने के कारण मुरैना जिले में चम्बल नदी में सैलाब आ गया है। बाढ़ के पानी से कई घिर गये हैं। पुलिस प्रशासन द्वारा स्टीमर के माध्यम से रेस्क्यू कर दो गांव खाली करा लिये गये हैं। वहीं, अन्य गांवों के ग्रामीणों से निरंतर सम्पर्क किया जा रहा है।

आगरा-मुंबई राष्ट्रीय राजमार्ग पर राजघाट में चम्बल पुल को छूती हुई निकल रही है। इस कारण मध्यप्रदेश व राजस्थान द्वारा दोनेां किनारों पर बल तैनात कर दिया है। हालांकि, राजस्थान के कोटाबेराज से पानी छोडऩे की मात्रा घटाकर 70 हजार क्यूसिक कर दिये जाने से पानी का जल स्तर और बढ़ने की संभावनायें कम हैं, लेकिन प्रशासन व पुलिस ने चम्बल नदी के तटीय गांवों में रेस्क्यू दल तैनात कर दिये हैं। आवश्यकता हुई तो सैना की सहायता भी ली जा सकती है।
 
प्रदेश के मालवा अंचल तथा राजस्थान के अनेक क्षेत्रों में हुई भारी वर्षा का प्रभाव मुरैना जिले के एक सैकड़ा से अधिक गांवों में देखा जा रहा है। बीते तीन दिवस के दौरान राजस्थान के कोटाबेराज से चम्बल नदी में छोड़े गये पानी के कारण जिले के आधा सैकड़ा गांव पानी से घिर गये हैं। सबलगढ़ का रतीयापुरा,  मुरैना का महूखेड़ा, नदूआपुरा, अम्बाह के घेर, कंचनपुर, बीलपुर, रामगढ़, इन्द्रजीत का पुरा, सुखध्यान का पुरा, चुसलई गांव टापू बन चुके हैं। इन गांवों में किसी भी प्रकार की पशुजन को हानि न हो पाये इसके लिये प्रशासन द्वारा रेस्क्यू दल गांव में तैनात कर दिया गया है। दलों द्वारा टापू बने गांवों में जाकर ग्रामीणों से सम्पर्क किया जा रहा है। हालांकि ग्रामीण अपना घर छोडऩे को तैयार नहीं हैं। कुछ गांवों अभी दल पहुंचा नहीं है। घेर व कंचनपुर गांव रेस्क्यू दल ने खाली करवा लिये गये हैं। इन गांवों वालों को सुरक्षित स्थान पर लाया गया है। 
 
शनिवार को मुरैना के राजघाट पर नदी का पानी पुराने पुल को छूता हुआ निकल रहा है। चम्बल में खतरे का निशान 138 मीटर पर है, जबकि पानी 142 मीटर पर पहुंच गया है। पुराने पुल से पानी टच करने पर मध्यप्रदेश राजस्थान के सैकड़ों लोग चम्बल के विशाल शैलाव को देखने पहुंच रहे हैं। राजस्थान, मध्यप्रदेश की पुलिस द्वारा  बल तैनात कर लोगों को पुराने पुल पर जाने से रोका जा रहा है। गांवों में पानी आने से हजारों हेक्टेयर कृषि भूमि पानी से घिर गई है। किसानों का कहना है कि इससे फसल पूरी तरह बर्बाद हो जायेगी। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS