Ad
मध्य प्रदेश
राजस्व अधिकारियों को अतिक्रमण के विरूद्ध सख्ती से कार्रवाई करने के निर्देश
By Swadesh | Publish Date: 11/1/2019 6:11:53 PM
राजस्व अधिकारियों को अतिक्रमण के विरूद्ध सख्ती से कार्रवाई करने के निर्देश

राजगढ़। कलेक्टर निधि निवेदिता ने शुक्रवार को राजस्व अधिकारियों की बैठक लेकर राजस्व प्रकरणों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने कहा कि राजस्व प्रकरणों का निराकरण समय-सीमा में करना सभी राजस्व अधिकारियों की जिम्मेदारी है और यह उनका नैतिक दायित्व है। उन्होंने निर्देश दिए कि राजस्व अधिकारी अपने न्यायालयीन कोर्ट में लंबित प्रकरणों को चिन्हित कर उनका निराकरण करना सुनिश्चित करें।

 
बैठक में कलेक्टर ने सभी राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिये कि भू-अर्जन, सीमांकन, अविवादित नामांतरण, बंटवारा और न्यायालयीन कोर्ट में लंबित प्रकरणों का त्वरित निराकरण करें। उन्होंने कहा कि सभी राजस्व अधिकारी ग्रामीण क्षेत्रों में बी-1 का वाचन, फसल गिरदावरी का कार्य समय-सीमा में करें, फसलों को पाला पडऩे से हुई क्षति का आंकलन कर रिकार्ड संधारण करें। उन्होंने कहा कि लोक अदालत के माध्यम से लंबित प्रकरणों का राजस्व अधिकारी अपने स्तर पर निराकरण करना सुनिश्चित करें।
 
कलेक्टर ने कहा कि जिला अतिक्रमण मुक्त हो इसके लिये राजस्व अधिकारी अपने क्षेत्र में विशेष मुहिम चलाकर अतिक्रमण हटायें। उन्होंने कहा कि अपने-अपने क्षेत्र में चौकस निगरानी रखें ताकि नये अतिक्रमण नहीं हो सकें। जिले में शांति व्यवस्था बनी रहे इसके लिये असामाजिक तत्वों के विरूद्ध कार्रवाई की जाना चाहिए। उन्होंने निर्देशित किया कि सभी राजस्व अधिकारी पुलिस विभाग के अधिकारियों के साथ संयुक्त रूप से भ्रमण करें ताकि कारगर कार्रवाई होती रहे। बैठक में जिला पंचायत सीईओ ऋषव गुप्ता, अपर कलेक्टर भव्या मित्तल सहित जिले के सभी राजस्व अधिकारी उपस्थित थे।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS