बिज़नेस
मनमोहन सिंह और रघुराम राजन के दौर में बैंकों की हालात थी सबसे खराब : सीतारमण
By Swadesh | Publish Date: 16/10/2019 5:53:30 PM
मनमोहन सिंह और रघुराम राजन के दौर में बैंकों की हालात थी सबसे खराब : सीतारमण

नई दिल्‍ली/न्‍यूयॉक। वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कोलंबिया यूनिवर्सिटी में लेक्‍चर के दौरान कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और आरबीआई के गवर्नर रहे रघुराम राजन के  कार्यकाल में सार्वजनकि क्षेत्र के बैंकों का सबसे खराब दौर था। सीतारमण ने कहा कि उनके दौर में करीबी नेताओं के फोन पर कर्ज दिये जाते थे। उस दलदल से निकले के लिए पब्लिक सेक्‍टर के बैंक अभी भी सरकार से मिलने वाली पूंजी पर निर्भर हैं। वित्‍त मंत्री ने कहा कि अब सरकारी बैंकों की मदद करना उनकी प्राथमिकता है। 
 
कोलंबिया यूनिवर्सिटी के स्‍कूल ऑफ इंटरनेशनल एंड पब्लिक अफेयर्स में एक लेक्चर में निर्मला सीतारमण ने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को ख्‍याल रखना उनका पहला काम है। उन्होंने कहा कि मैं रघुराम राजन का सम्मान करती हूं। सीतारमण ने कहा कि वे अर्थशास्त्र के अच्छे जानकार रहे हैं,  जब भारतीय अर्थव्यवस्था की हालत खराब थी तब उन्हें रिजर्व बैंक के लिए चुना गया था। 
 
सीतारमण ने कहा कि मैं अभारी हूं कि राजन ने असेट क्‍वालिटी का रिव्‍यू किया, लेकिन लोग यह जानना चाहते हैं कि बैंकों की जो आज हालत है उसके लिए कौन जिम्‍मेदार है? दरअसल रघुराम राजन ने पिछले दिनों एक लेक्‍चर में कहा था कि नरेंद्र मोदी सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में अर्थव्‍यवस्‍था के लिए अच्‍छा काम नहीं किया। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS