Ad
बिज़नेस
बोगस निवेश रिफंड की निगरानी करेगी सीबीडीटी की समिति
By Swadesh | Publish Date: 20/12/2018 12:59:14 PM
बोगस निवेश रिफंड की निगरानी करेगी सीबीडीटी की समिति

मुंबई। बोगस निवेश पर रिफंड हासिल करने की प्रक्रिया को सख्त करने की योजना आयकर विभाग की ओर से बनाई गई है। आईटी विभाग ने फर्जीवाड़ा रोकने की दिशा में सख्त कदम उठाते हुए नए सिरे से प्लान को क्रियान्वित करने जा रहा है। सीबीडीटी ने एक तीन सदस्यीय समिति का गठन किया है। यह समिति आंकलन मामलों को देखेगी। समिति की जांच में धोखाधड़ी पाए जाने पर फर्जी तरीके से रिफंड का क्लेम करनेवालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

 
हाल ही में मुंबई, बेंगलुरु, पंजाब समेत देश के कई राज्यों में मारे गए छापेमारी के दौरान आयकर विभाग को पता चला है कि कुछ निवेशक धोखाधड़ी करने के लिए फर्जी तरीके से निवेश कराते हैं। कई करदाताओं को 80 सी के तहत बोगस निवेश और आवास ऋण पर फर्जी रिफंड दावे करने को भी प्रोत्साहित कर रहे हैं। आयकर विभाग ने धोखाधड़ी वाले निवेशकों की पहचान करने के साथ ही ऐसे लोगों के जरिए किए जा रहे बोगस रिफंड दावों को रोकने के लिए सुरक्षा के अतिरिक्त कदम उठाए हैं। 
 
केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) की ओर से यह जानकारी मिली है। जोखिम मापदंड की समीक्षा करने पर यह सामने आया कि कई रिफंड दावे एक ही आईपी पते से दायर किए गए हैं। इस जानकारी के आधार पर विभाग की ओर से मुंबई, बेंगलुरु, पंजाब समेत देश के कई राज्यों में छापे मारे। धोखाधड़ी से रिफंड का दावा करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का प्लान भी बनाया गया है, जिससे बोगस दावे के क्लेम को कम किया जा सकेगा। 
 
विभाग के हवाले से कहा गया कि इस तरह का बोगस निवेश करने के बाद उसका रिटर्न फॉर्म भरा जाता है और बाद में उसे क्लेम कर लिया जाता है। बोगस रिफंड का दावा करनेवालों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। विभाग की ओर से करदाताओं को ईमानदारी से अपने कर का भुगतान करने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाएगा। 
 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS