छत्तीसगढ़
ब‍िलासपुर लोकसभा से मतगणना की निगरानी करेंगे दो कलेक्टर
By Swadesh | Publish Date: 22/5/2019 4:23:08 PM
ब‍िलासपुर लोकसभा से मतगणना की निगरानी करेंगे दो कलेक्टर

बिलासपुर। 23 मई को मतगणना के दौरान बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के आठ विधानसभा सीटों की गिनती दो जिला कलेक्टरों की निगरानी में होगी। छह विधानसभा क्षेत्र बिलासपुर व दो विधानसभा क्षेत्र मुंगेली जिले के अंतर्गत आता है।  लिहाजा दो कलेक्टर मिलकर मतगणना का कार्य पूरा कराएंगे। मुंगेली व लोरमी विधानसभा के वोटों की गिनती की लिखित जानकारी मुंगेली कलेक्टर व जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा बिलासपुर कलेक्टर को भेजी जाएगी।  इसके बाद बिलासपुर कलेक्टर चुनाव परिणाम की आधिकारिक घोषणा करेंगे।
 
बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले आठ विधानसभा क्षेत्र के वोटों की गिनती के दौरान बिलासपुर व मुंगेली दोनों ही जिलों में सियासी सरगर्मी रहेगी।  बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र का दायरा दो जिलों में फैला हुआ है।  यही कारण है कि लोकसभा चुनाव के दौरान इस एक सीट के लिए मतदान से लेकर मतगणना कराने की जिम्मेदारी दो जिलों को उठाना पड़ता है। 
 
 बिलासपुर जिले के नक्शे पर बिलासपुर, बिल्हा, बेलतरा, मस्तूरी, तखतपुर व कोटा सहित छह विधानसभा क्षेत्रों को शामिल किया गया है, मरवाही विधानसभा क्षेत्र कोरबा लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है, बिलासपुर जिले की छह और मुंगेली जिले की दो विधानसभा क्षेत्र को मिलाकर बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र का नाम दिया गया है, मुंगेली व लोरमी विधानसभा क्षेत्र मुंगेली जिले के अंतर्गत आता है। विधानसभा और लोकसभा चुनाव के दौरान मुंगेली और लोरमी विधानसभा क्षेत्र में चुनाव कराने से लेकर वोटों की गिनती कराने की जिम्मेदारी मुंगेली जिला प्रशासन की रहती है।
 
बिल्हा विधानसभा क्षेत्र के 118 पोलिंग बूथ मुुंगेली जिले के नक्शे में शामिल है। लिहाजा बिल्हा विधानसभा क्षेत्र के इन पोलिंग बूथों में मुंगेली जिला प्रशासन के कर्मचारी व अधिकारी चुनाव कराते हैं। इन बूथों के ईवीएम के वोटों की गिनती भी मुंगेली जिला प्रशासन द्वारा की जाती है। वोटों की गिनती के बाद आंकड़ा बिलासपुर जिला प्रशासन के हवाले कर दिया जाता है।
 
मरवाही विधानसभा के 237 बूथ कोरबा जिले के हवाले
मरवाही विधानसभा क्षेत्र में 237 पोलिंग बूथ का गठन किया गया है। लोकसभा चुनाव के दौरान यहां चुनाव कराने की जिम्मेदारी बिलासपुर जिला प्रशासन की होती है। मतदान दलों के गठन से लेकर सुरक्षा व्यवस्था और वोटों के गिनती की जिम्मेदारी इनकी रहेगी । मतणना का कार्य भी आईटी कैम्पस स्थित मतगणना कक्ष में होगा। गिनती के बाद उम्मीदवारों को मिले वोटों की लिखित जानकारी बिलासपुर कलेक्टर द्वारा कोरबा कलेक्टर के हवाले किया जाएगा । डाक मतपत्रों की गिनती कोरबा स्थित मतगणना कक्ष में की जाएगी ।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS