Ad
ब्रेकिंग न्यूज़
देश
छत्तीसगढ़ में अटल विकास यात्रा को हरी झंडी दिखाने पहुंचे अमित शाह
By Swadesh | Publish Date: 5/9/2018 2:54:45 PM
छत्तीसगढ़ में अटल विकास यात्रा को हरी झंडी दिखाने पहुंचे अमित शाह

नई दिल्ली/रायपुर। छत्तीसगढ़ की रमन सिंह के नेतृत्व वाली सरकार के द्वारा आज से 'अटल विकास यात्रा' शुरू हो रही है। इस यात्रा को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ विकासखंड से हरी हरी झंडी दिखाएंगे। ये यात्रा पूरे एक महीने तक चलेगी।
 
बीजेपी अध्यक्ष छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर पहुंचे। बीजेपी के संपर्क फॉर समर्थन कार्यक्रम के तहत सतनामी समाजत के गुरु प्रकाश गुरु साहेब से मुलाकात की। इसके बाद वे हेलीकाप्टर से राजनांदगांव के डोंगरगढ़ के लिए रवाना हो गए हैं। दोपहर करीब ढाई बजे डोंगरगढ़ पहुंचकर जनसभा को संबोधित करेंगे। इसके बाद 'अटल विकास यात्रा' का आगाज करेंगे।
 
विकास यात्रा के द्वितीय चरण को रमन सरकार ने 'अटल विकास यात्रा' नाम दिया है। यह यात्रा 5 सितंबर से शुरू होकर 5 अक्टूबर तक चलेगी। चर्चा यह भी है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक महीने के अंदर छत्तीसगढ़ का दौरा करेंगे। सरकार के इस आयोजन पर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने चुटकी ली है। प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा कि विकास यात्रा शासकीय आयोजन है। इसमें भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का क्या काम? उन्हें यात्रा को हरी झंडी दिखाने के लिए बुलाकर सरकार इसे पार्टी का कार्यक्रम बना रही है।  
 
वहीं, मुख्यमंत्री डॉ। रमन सिंह ने इस पर पलटवार करते हुए कहा कि अमित शाह राज्यसभा सदस्य हैं। इसके साथ वे बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। कार्यक्रम में उन्हें नहीं तो क्या कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष को बुलाया जाए। अटल विकास यात्रा को लेकर मुख्यमंत्री डॉ। रमन सिंह ने  कहा कि इस यात्रा का प्रमुख लक्ष्य राज्य सरकार की उपलब्धियों को जनता के बीच लेकर जाना और नवा छत्तीसगढ़ 2025 के परिदृश्य में जनता के विचारों को शामिल करना है। इसके साथ ही प्रदेश के कोने-कोने तक जाकर सरकार के काम-काज का लेखा-जोखा जनता के सामने रखना।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि 2022 तक सभी छत्तीसगढ़ वासियों का स्वयं का मकान होगा और प्रत्येक नागरिक को गुणवत्तापूर्ण तथा किफायती स्वास्थ्य देख-भाल का अधिकार भी होगा। किसानों की आमदनी दोगुनी कर उन्हें सशक्त बनाया जाएगा और खेती में आधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल कृषि उत्पादन को बढ़ाया जाएगा। उन्होंने बताया कि अटल दृष्टिपत्र के अनुसार, वर्ष 2025 तक छत्तीसगढ़ शत-प्रतिशत साक्षर हो जाएगा और शत-प्रतिशत बच्चे स्कूलों में दाखिला लेंगे। इसके साथ ही अपने रजत जयंती वर्ष के आने तक छत्तीसगढ़ शिक्षा गुणवत्ता के मामले में भी देश के पांच शीर्षस्थ राज्यों की श्रेणी में आ जाएगा।  
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि अटल दृष्टिपत्र  के संकल्पों के अनुसार, वर्ष 2025 तक छत्तीसगढ़ में 15 प्रतिशत से भी कम लोग गरीबी रेखा से नीचे होंगे और वर्ष 2030 तक गरीबी का उन्मूलन भी कर दिया जाएगा। सभी नागरिकों के लिए शुद्ध पेयजल, टेलीफोन संपर्क, बेहतर स्वच्छता की सुविधा मिलने लगेगी। कचरा निपटान की भी बेहतर व्यवस्था होगी और प्रदेश के शत-प्रतिशत आंगनबाड़ी केंद्रों और स्कूलों को शुद्ध पेयजल मिलने लगेगा।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS