छत्तीसगढ़
रायल्टी चोरी कर अवैध रूप से हो रहा रेत उत्खनन
By Swadesh | Publish Date: 16/1/2019 2:34:13 PM
रायल्टी चोरी कर अवैध रूप से हो रहा रेत उत्खनन

जगदलपुर। बिना अनुमति और बिना खदान प्राप्त किये इंद्रावती के किनारे रेत का उत्खनन इस समय तेजी से चल रहा है और यदि इसे नहीं रोका गया तो इंद्रावती नदी पर इसका विपरित प्रभाव होगा। जानकारी के अनुसार इस समय शहर के आसना पंचायत के आश्रित ग्राम तामाकोनी में इंद्रावती नदी के किनारों को अवैध रूप से खोदकर रेत निकाली जा रही है। अवैध खुदाई का यह आलम है कि लगभग डेढ़ से दो लाख रूपए की रेत यहां से लगभग 50 से 60 ट्रैक्टरों में भर कर सप्लाई की जा रही है। 

यह सब आपसी मिलीभगत से चलाये जाने की जानकारी भी प्राप्त हुई। उल्लेखनीय है कि यहां से प्रतिदिन तेजी से रेत की खुदाई का कार्य दिन के शुरू होने के पहले ही शुरू हो जाता है। एक टै्रक्टर रेत लगभग तीन हजार रूपए में बेची जाती है और यहां अवैध रूप से खुदाई करने के लिए सात सौ रूपए दिये जाते हैं। जो भी सात सौ रूपए देता है वह ट्रैक्टर भर कर रेत ले जा सकता है। 
 
आसना पंचायत के इस तामाकोनी ग्राम में पिछले लंबे समय से अवैध रेत खनन की लगातार शिकायतें स्थानीय ग्रामीणों द्वारा की जा रही है और आज भी वे शिकायत कर रहे हैं। इस संबंध में यह उल्लेखनीय है कि खदानों के लिए पर्यावरणीय स्वीकृति को कड़ा किया गया है। जिसके कारण बस्तर जिले की 20 खदानों में से 17 खदाने अभी बंद पड़ी हुई है। इसी कारण यहां रेत का अवैध खनन तेजी से बढ़ गया है। 
 
यह भी जानकारी प्राप्त हुई है कि जिन खदानों को बंद किया गया है वहां से भी अवैध रूप से रेत निकाली जा रही है। इस संबंध में खनिज निरीक्षक दीपक तिवारी ने बुधवार को बताया कि तामाकोनी में अवैध खनन की शिकायत ग्रामीणों के द्वारा प्राप्त हुई है और शीघ्र ही कार्रवाई कर अवैध खनन को रुकवाया जाएगा और साथ ही कड़ी कार्रवाई की जायेगी। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS