ब्रेकिंग न्यूज़
सोनभद्र जा रही प्रियंका को प्रशासन ने मिर्जापुर में रोकाबाबरी मस्जिद मामला: सुप्रीम कोर्ट ने बढ़ाया ट्रायल कोर्ट के जज का कार्यकालउज्बेकिस्तान में भारतीय राजदूत संतोष ने राष्ट्रपति से की मुलाकातकांग्रेस राज में हुई गड़बड़ी की देन है सोनभद्र नरसंहार की घटना: योगी आदित्यनाथउप्र विधानसभा: मुख्यमंत्री बोलते रहे, विपक्षी बेल में पहुंचकर नारेबाजी करते रहे, विधानसभा स्थगितरोज वैली चिटफंड घोटाला मामले में अभिनेता प्रसनजीत से पूछताछचांद तारा के निशान वाले हरे रंग के झंडे पर दो हफ्ते में जवाब दे केन्द्रप्रधानमंत्री ने लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस भाषण के लिए जनता से मांगे सुझाव
छत्तीसगढ़
भूपेश सरकार ने लांच की “मोर छत मोर बिजली”योजना
By Swadesh | Publish Date: 15/5/2019 2:29:28 PM
भूपेश सरकार ने लांच की “मोर छत मोर बिजली”योजना

रायपुर। छत्तीसगढ़ में भूपेश सरकार ने सस्ती दरों पर और आसानी से सोलर बिजली प्रदान करने के लिए एक बड़ी पहल की है। भूपेश सरकार ने बिजली संबंधित समस्या से निजात पाने के लिए मुख्यमंत्री सौर शक्ति योजना (मोर छत मोर बिजली) योजना लागू की गई है। इस योजना से छत्तीसगढ़ में सोलर से बिजली उत्पादन को बढ़ावा मिलेगा।

इस योजना का लाभ सभी वर्ग के हितग्राही ले सकते है। अपने घर के बिजली खपत की झमता अनुसार आपके घर में संयंत्र स्थापित की जाएगी। पहले चरण के लिए राज्य सरकार ने क्रेडा के माध्यम से 300 शासकीय भवनों का चयन किया गया है। जिसमें सोलर के माध्यम से बिजली उप्पादन की जाएगी। 
 
भूपेश सरकार ने 2022 तक राज्य में 600 मेगावाट बिजली उत्पादन का लक्ष्य रखा है। वहीं इस वित्तीय वर्ष में 50 मेगावाट बिजटी उत्पादन करने पर फोकस कर रही है। नवीन रेग्यूलेशन के अनुसार अब 1 किलोवाट से 1 मेगावाट क्षमता तक के ग्रिड कनेक्टेड और संयंत्र स्थापित कर हितग्राही उत्पादित विद्युत का स्वयं उपभोग कर सकेगा और ग्रिड में प्रभावित बिजली का नेट मीटरिंग के माध्यम से बिजली बिल देयक में शामिल होगा। इस प्रणाली से हितग्राही के विद्युत व्यय में बचत होगी और उससे सस्ती दर बिजली उपलब्ध हो सकेगी। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS