Ad
धर्म
जन्माष्टमी पर ऐसे करें भगवान श्रीकृष्ण की आराधना, पूरी होगी मनोकामनाएं
By Swadesh | Publish Date: 31/8/2018 12:34:34 PM
जन्माष्टमी पर ऐसे करें भगवान श्रीकृष्ण की आराधना, पूरी होगी मनोकामनाएं

त्योहारों का मौसम आ चुका है। रक्षाबंधन और सावन के बाद अब आ गया है भाद्रपद महीने में मनाया जाने वाला त्यौहार जन्माष्टमी। भाद्रपद महीने के कृष्णपक्ष की अष्टमी तिथि को यह त्योहार मनाया जाता है। यह हिन्दुओं का खास त्योहार है। इस साल श्रीकृष्ण जन्माष्टमी 3 सितंबर 2018 को पड़ रही है। इसी तिथि में भगवान कृष्ण का जन्म हुआ था। भगवान कृष्ण का जन्म रोहिणी नक्षत्र में आधी रात के वक्त हुआ था। जन्माष्टमी भगवान श्रीकृष्ण के जन्म उत्सव के रूप में मनाया जाता है। घरों में साफ-सफाई करके इसकी तैयारियां आरंभ हो चुकी है। घर के मंदिर में नंद गोपाल की मूर्ति को नए-नए वस्त्र और आभूषण पहनाएं जाएंगे।

श्रीकृष्ण को धरती पर भगवान विष्णु का आठवां अवतार माना जाता है। इसलिए इस दिन को बहुत शुभ माना जाता है। इस दिन भगवान श्रीकृष्ण को प्रसन्न करने के लिए विशेष उपाय किए जाएं तो हर मनोकामना पूरी हो सकती है।

शास्त्रों के अनुसार श्री कृष्ण की पत्नी रुक्मणी लक्ष्मी का अवतार थी इसलिए अगर इस दिन भगवान श्रीकृष्ण को प्रसन्न करने के लिए विशेष उपाय किए जाएं तो माता लक्ष्मी भी प्रसन्न हो जाती हैं और भक्तों पर कृपा बरसाती हैं। अगर आप जन्माष्टमी के दिन ये उपाय पूर्ण श्रद्धा एवं विश्वास से करेंगे तो आपको भी मनचाहे फल की प्राप्ति होगी।

1. अगर आपको अपनी आर्थिक स्थिति सुधारनी है तो यह उपाय जरूर करें। आप जन्माष्टमी के दिन भगवान श्रीकृष्ण को सफेद मिठाई या खीर का भोग लगाएं। इस खीर में तुलसी के पत्ते डालें। इससे भगवान श्रीकृष्ण जल्दी ही प्रसन्न हो जाते हैं।

2. जन्माष्टमी के दिन भगवान श्रीकृष्ण का केसर मिश्रित दूध से अभिषेक करें। इससे जीवन में कभी धन की कमी नहीं आती।

3. जन्माष्टमी के दिन पीले रंग के कपड़े, पीले फल व पीला अनाज दान करने से मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है।

4. जन्माष्टमी के दिन दक्षिणावर्ती शंख में जल भरकर भगवान श्रीकृष्ण का अभिषेक करें। इस उपाय से मां लक्ष्मी की कृपा बरसती है और व्यक्ति मालामाल हो जाता है।

5. अगर आपको नौकरी व्यापार में तरक्की चाहिए तो आप जन्माष्टमी के दिन घर में सात कन्याओं को घर बुलाकर उन्हें खीर खिलाएं। इससे मां लक्ष्मी की कृपा बनेगी।

COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS