ब्रेकिंग न्यूज़
करतारपुर कॉरिडोर: श्रद्धालुओं से शुल्क वसूलने पर अड़ा पाकिस्तान, भारत समझौते के लिए तैयारनक्सल प्रभावित क्षेत्र में तैनात जवानों के चलते हम सुरक्षित: अनुसुईया उइकेविचारधारा से सहमत नहीं लेकिन सावरकर की उपलब्धि को नकारा नहीं जा सकता : अभिषेक सिंघवीछत्तीसगढ़ सीडी कांड : ट्रायल कोर्ट में चल रही सुनवाई पर लगी रोकविराट कोहली के भाई-भाभी समेत कई वीआईपी ने किया मतदानफेसबुक पर ’रोहित’ बनकर अशफाक ने बढ़ाई थी कमलेश तिवारी से दोस्तीजम्मू-कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाने में पुलिस बलों का महत्वपूर्ण योगदान: अमित शाहभारत ने श्रृंखला में दूसरी बार दक्षिण अफ्रीका को दिया फॉलोआन
धर्म
शनिश्चरी अमावस्याः तिल-तेल चढ़ाकर भगवान से मांगी कष्टों से मुक्ति
By Swadesh | Publish Date: 5/1/2019 3:21:18 PM
शनिश्चरी अमावस्याः तिल-तेल चढ़ाकर भगवान से मांगी कष्टों से मुक्ति

इंदौर। नए साल की पहली शनैश्चरी अमावस्या शनिवार को मनाई जा रही है। प्राचीन शनि मंदिर जूनी इंदौर सहित अन्य शनि मंदिरों में सुबह से ही भगवान शनि देव के दर्शन के लिए भक्त उमड़ रहे हैं। भगवान शनिदेवा का राजगीय श्रंगार किया गया और चांदी के अस्त्र-शस्त्र हाथों में दिए गए। फूलों का श्रंगार भी किया गया। शहर के सभी शनि मंदिरों में आज कई आयोजन हो रहे है। तिल, तेल भी भगवान को चढ़ाया गया। 

 
ज्योर्तिविद ओम वशिष्ठ के मुताबिक पहली शनैश्चरी अमावस्या पर धनु राशि में सूर्य के साथ चंद्र, बुध और शनि की युति होने से चर्तुग्रही योग बन रहा है। धनु राशि में सूर्य ग्रह के होने से इस दिन का ज्योतिषिय महत्व और अधिक हो गया है। शनि मंदिरों में विशेष श्रंगार किया गए है। जूनी इंदौर स्थित प्राचीन शनि मंदिर में भक्तों की भारी भीड़ अलसुबह से ही बढ़ रही है। कतार में लग कर भक्त दर्शन कर रहे है और भगवान को तिल, तेल का चढ़ावा भी चढ़ा रहे है। कई अनुष्ठान मंदिरों में किए जा रहे है। 
 
पं. सचीन तिवारी ने बताया कि शनि शांति महायज्ञ यहां किया जाएगा। जिसमें श्रद्धालु आहुति डालेंगे साथ ही तिल, तेल से अभिषेक भी होगा। हजारों की संख्या में श्रद्धालु देर रात तक भगवान शनि देव के दर्शन करेंगे। जवाहर मार्ग, जिंसी चौराहा, उज्जैन नाका, चिकमंगुलर चौराहा, जिला कोर्ट के सामने, एमजी रोड सहित सभी शनि मंदिरों में आकर्षक साज-सज्जा की गई है। सभी मंदिरों में महाआरती, हवन पूजन के साथ प्रसाद वितरण आदि भी किए गए। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS