विदेश
नॉर्थ अमेरिकी बंगाली समुदाय का 39वां वार्षिक सम्मेलन, सांस्कृतिक कार्यक्रमों की रही धूम
By Swadesh | Publish Date: 18/7/2019 10:49:36 AM
नॉर्थ अमेरिकी बंगाली समुदाय का 39वां वार्षिक सम्मेलन, सांस्कृतिक कार्यक्रमों की रही धूम

लॉस एंजेल्स। अमेरिका के विभिन्न हिस्सों में बंगाली, तेलुगु, तमिल और उड़िया समुदायों ने पिछले दिनों अन्तरराष्ट्रीय सम्मेलन और रंगारंग कार्यक्रमों में संगीत, नृत्य और कला के माध्यम से अपनी सांस्कृतिक धरोहर का मनोहारी प्रस्तुतिकरण किया। बाल्टीमोर में नॉर्थ अमेरिकी बंगाली समुदाय ने 39वें वार्षिक सम्मेलन में भी समुदाय ने अपनी संस्कृति और सभ्यता के अनुरूप सांस्कृतिक नृत्य और संगीत में भाग लिया। इस अवसर पर कोलकाता और बॉलीवुड के अनेक कलाकारों ने भाग लिया। शंकर महदेवन ने रंगारंग कार्यक्रम में शानदार प्रस्तुति पेश की। इस तीन दिवसीय कार्यक्रम में पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के मूल वंशियों ने भी हिस्सा लिया।

बंगाल की पुरानी संस्था 'संस्कृति इंक' द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम का थीम रवीन्द्रनाथ टैगोर के उस प्रमुख गीत के बोल ''भुबनोजोर आशोनोखनी'' पर आधारित था, जिसमें विश्व को मानवता के नज़रिए से एकजुट होने का संदेश दिया गया था। सम्मेलन में प्रमुख बंगाली कलाकार स्वदेश चटर्जी को सम्मानित किया गया। यह तीन दिवसीय सम्मेलन पांच जुलाई से शुरू हुआ था। इस कार्यक्रम में कोलकाता नाटकीय मंच के दो समूहों 'किनेमार माटो' और ''खेलाघर'' ने मंचन किया। इनमें देशंकर हल्दर और बीपलव रायचौधरी ने भाग लिया। हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत की सुप्रसिद्ध गायिका शोभा मुद्गल ने ख़याल, ठुमरी और दादरा पर आधारित गायन से श्रोताओं का मनोरंजन किया। 
 
न्यू जर्सी से अभिनेता, निदेशक सुदिपता भवमिक ने क़हा कि इस कार्यक्रम में उन्हें अपने पुराने मित्रों से मिल कर असीम प्रसन्नता हुई है। इस कार्यक्रम में भारत से साठ बंगाली सिने कलाकारों, संगीतकारों को बुलाया गया था, जिनमें रितुपरना सेनगुप्ता, नंदिता राय, इंद्रनिल सेनगुप्ता, रदरानिल घोष, अंबरीष भट्टाचार्य शिबप्रसाद मुखर्जी और रेशमी मित्रा आदि मौजूद रहे।
 
तेलुगु समुदाय ने किया राम माधव का सत्कार
अमेरिका में तेलुगु भारतीय अमेरिकी समुदाय ने वाशिंगटन में हज़ारों तेलुगु प्रेमियों के बीच अपनी द्विवार्षिक 22वें सम्मेलन में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव को सम्मानित किया। जबकि शिकागो तमिल संगम की ओर से दसवें विश्व तमिल अनुसंधान सम्मेलन के दौरान अमेरिका, कनाडा, फ़्रांस, श्रीलंका और नार्वे से आए तमिल भाषा भाषियों ने भाग लेकर अपनी सांस्कृतिक धरोहर पर विचार किया।
प्रख्यात कवि सुब्रमण्यम भारती की रचनाओं पर युवा कलाकारों ने नृत्य किया। तमिल संगम के प्रधान सदर कपूस्वामी ने दूर-दूर से आए लोगों का अभिनंदन किया। अमेरिका में गुजराती समुदाय के बाद तेलुगु दूसरा बड़ा समुदाय है, जिसके लोग देशभर में फैले हुए हैं। इस अवसर पर तेलुगु समुदाय के अध्यक्ष सतीश वेमना ने लोगों का आभार जताया। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS