विदेश
अमेरिका-चीन के बीच व्यापार युद्ध से स्टाक मार्केट में तेजी
By Swadesh | Publish Date: 14/8/2019 3:45:38 PM
अमेरिका-चीन के बीच व्यापार युद्ध से स्टाक मार्केट में तेजी

लॉस एंजेल्स। अमेरिका ने राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े कुछ उत्पादों को छोड़कर चीन से आयातित उत्पादों पर एक सितम्बर से सीमा शुल्क दस से बढ़ाकर 25 प्रतिशत किए जाने की घोषणा की है। राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े उत्पादों पर अब सीमा शुल्क बढ़ाया जाएगा। इस छूट से इलेक्ट्रॉनिक और टेक्नोलॉजी से संबंधित शेयरों में तेज़ी आ गई है।

वाल स्ट्रीट के तीन स्टाक इंडेक्स में डाव जोंस और एस एंड पी-500 में 1.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई है, तो नेस्डेक इंडेक्स में 1.09 प्रतिशत की तेज़ी रही। जनरल इलेक्ट्रिकल के शेयर में 4.4 प्रतिशत की तेज़ी आई है तो एपल के शेयर चार प्रतिशत बढ़ गए हैं। इसका असर इंग्लैंड की स्टाक मार्केट पर भी पड़ा है, जहां शेयर में 2.3 प्रतिशत की तेज़ी आई है।    

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए इसकी घोषणा की और बताया कि कुछ उत्पादों पर देरी से सीमा शुल्क में छूट का कारण क्रिसमस पर्व भी है, ताकि अमेरिकी व्यापारियों के हितों पर चोट नहीं पड़े। इन उत्पादों में ज्यादातर उत्पाद इलेक्ट्रॉनिक और टेक्नोलॉजी से संबंधित हैं।  
 
अमेरिका और चीन के बीच मौजूदा व्यापार युद्ध के संदर्भ में ट्रम्प प्रशासन ने एक अगस्त को कहा था कि वह चीन से आयातित तीन सौ अरब डालर के उत्पादों पर दस प्रतिशत सीमा शुल्क में वृद्धि कर देंगे। मंगलवार को ट्वीट करते हुए ट्रम्प ने कहा था कि उन्हें उम्मीद है कि चीन अमेरिकी कृषि उत्पाद की बड़ी ख़रीद करेगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। आर्थिक विश्लेषकों ने मत व्यक्त किया है कि अमेरिका द्वारा कुछ तकनीकी और इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों को दिसम्बर तक छूट देने का यह अर्थ नहीं लगाया जाना चाहिए कि व्यापार युद्ध का समापन हो गया है। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS