विदेश
पर्यावरणविद् और वैज्ञानिकों ने समुद्र के जलस्तर में हो रही वृद्धि पर चेताया
By Swadesh | Publish Date: 6/11/2019 10:43:02 AM
पर्यावरणविद् और वैज्ञानिकों ने समुद्र के जलस्तर में हो रही वृद्धि पर चेताया

लॉस एंजेल्स। दुनियाभर के पर्यावरणविद् और वैज्ञानिकों ने समुद्र के जलस्तर में लगातार हो रही वृद्धि को देखते हुए मंगलवार को चेतावनी जारी की है। उन्होंने कहा कि अगर समय रहते इस स्थिति को नियत्रंण में नहीं किया गया तो आने वाले समय में जलवायु परिवर्तन से मानवीय गातिविधियां संकट में फंस जाएंगी। समुद्र का जलस्तर अनवरत बढ़ता जा रहा है, जोकि महासागर के आसपास रहने वाले लोगों के लिए खतरे की घंटी है। 

बायो साइंस के एक जर्नल में छपी रिपोर्ट में कहा गया है कि पृथ्वी के सामने जलवायु आपात स्थिति का संकट खड़ा हो गया है। सभी प्रयासों के बावजूद गैस उत्सर्जन में वृद्धि जारी है, जो पृथ्वी के लिए खतरे की घंटी है। पर्यावरण और वैज्ञानिक समूह दल में भारत सहित 153 देशों  के सदस्य हैं। इन लोगों ने कहा है कि मानवीय गतिविधियों के कारण जहां गैस उत्सर्जन बढ़ रहा है, वहीं पेड़ों की कटाई थमने का नाम नहीं ले रही। इस वजह से सौर ऊर्जा का भरपूर इस्तेमाल नहीं हो पा रहा। आज भी सौर ऊर्जा औ वायु ऊर्जा का अनुपात 28 गुना कम है। इसकी वजह से लगातार पर्यावरण असंतुलन का खतरा बढ़ता जा रहा है।

यह चेतावनी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के संयुक्त राष्ट्र को पेरिस जलवायु समझौते से आधिकारिक रूप से हटाने की घोषणा की खबर के एक दिन बाद आई  है। पर्यावरणविदों ने कहा है कि जलवायु परिवर्तन को लेकर पिछले चार दशक से केवल इस पर चर्चा हो रही है। कोई ठोस परिणाम देखने को अभी तक नहीं मिले हैं। उन्होंने चेतावनी देते हुए सुझाव दिया है कि लकड़ी से जलने वाले कोयले से तुरंत निजात पाई जाए, मेथेन और कोयले से ऊर्जा हासिल करने पर तुरंत काबू पाया जाए, जंगलों में पेड़ों की कटाई पर रोकी जाए, मांसाहार पर रोक लगाई जाए तथा आर्थिक विकास में सभी पक्षों को एक समान भागीदार बनाया जाए और जनसंख्या पर अंकुश लगाया जाए।

COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS