Ad
ब्रेकिंग न्यूज़
चुनावी शंखनाद के बाद फिर 27-28 सितंबर को मध्य प्रदेश आएंगे राहुलपदमा शुक्ला हुई बागी, भाजपा का साथ छोड़ थामा कांग्रेस का हाथUN ग्लोबल मीडिया कॉम्पैक्ट में भारत का सूचना प्रसारण मंत्रालय शामिलकांग्रेस का वित्त मंत्री पर पलटवार, 'मोदी सल्तनत के दरबारी विदूषक' बनने को बेताब हैं अरुण जेटलीजम्मू कश्मीर : नियंत्रण रेखा के पास सुरक्षाबलों का आतंक निरोधक अभियान, 3 आतंकियों को किया ढेरपश्चिम बंगाल में एक और हादसा, दक्षिण 24 परगना जिले में गिरा निर्माणाधीन पुलशिवराज सरकार में मंत्री दर्जा प्राप्त पदमा शुक्ला ने छोड़ी पार्टी, भाजपा में मचा हड़कंपअब क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों का भी होगा एकीकरण, संख्या घटकर होगी 36
विदेश
पाकिस्तान: अब्बासी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी, सुरक्षा प्रतिष्ठानों की मानहानि का है आरोप
By Swadesh | Publish Date: 11/9/2018 11:30:59 AM
पाकिस्तान: अब्बासी के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी, सुरक्षा प्रतिष्ठानों की मानहानि का है आरोप

इस्लामाबाद। पाकिस्तान की एक अदालत ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के संबंध में एक उच्चस्तरीय सुरक्षा बैठक के ब्योरे का खुलासा करने के मामले में पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी के खिलाफ जमानती गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। अब्बासी ने, डॉन अखबार के संवाददाता के साथ अपनी पार्टी के नेता एवं पूर्व प्रधानमंत्री शरीफ के साक्षात्कार को लेकर मई में राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक की अध्यक्षता की थी।  बाद में उन्होंने बैठक का ब्यौरा मीडिया के साथ साझा किया था। सिविल सोसाइटी की एक सदस्य ने लाहौर उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर आरोप लगाया कि अब्बासी ने सुरक्षा प्रतिष्ठानों की मानहानि की है।
 
याचिकाकर्ता ने तर्क दिया था कि बैठक के बाद अब्बासी ने अपदस्थ प्रधानमंत्री शरीफ से मुलाकात की थी और उन तक सैन्य नेतृत्व की चिंता पहुंचाई। उसने कहा कि अब्बासी ने ऐसा कर प्रधानमंत्री के रूप में ली गई अपनी शपथ का उल्लंघन किया।
 
लाहौर उच्च न्यायालय के न्यायाधीश मजहर अली अकबर नकवी ने अब्बासी को सोमवार को तलब किया था, लेकिन वह पेश नहीं हुए।  इस पर उनके खिलाफ जमानती गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया गया। न्यायाधीश ने शरीफ और रिपोर्टर को भी नोटिस जारी किए जाने का आदेश दिया। शरीफ ने अपने साक्षात्कार में मुम्बई हमलों में पाकिस्तानी लोगों की संलिप्तता से जुड़े सवाल उठाए थे जिससे सेना और सरकार के बीच तनाव बढ़ गया था। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS