विदेश
ईशनिंदा मामला: पाक में दंगा करने और शांति भंग करने के मामले में 250 गिरफ्तार
By Swadesh | Publish Date: 5/11/2018 11:07:20 AM
ईशनिंदा मामला: पाक में दंगा करने और शांति भंग करने के मामले में 250 गिरफ्तार

इस्लामाबाद/लाहौर। पाकिस्तान पुलिस ने ईसाई महिला आसिया बीबी को ईशनिंदा के इल्जाम से बरी करने के बाद तीन दिन के प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा, आगज़नी और तोड़फोड़ के सिलसिले में करीब 250 लोगों को गिरफ्तार किया है। कट्टरपंथी इस्लामी पार्टी तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान से समझौता करने के एक दिन बाद सरकार हरकत में नजर आई और उसने प्रदर्शन के दौरान सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी। 47 साल की आसिया बीबी पर पड़ोसन के साथ झगड़े को लेकर ईशनिंदा का आरोप लगाया गया था और 2010 में उन्हें दोषी ठहराया गया था।

 
पिछले बुधवार को अपने ऐतिहासिक फैसले में सुप्रीम कोर्ट की प्रधान न्यायाधीश साकिब निसार की अगुवाई वाली पीठ ने ईशनिंदा के लिए बीबी को मिली मौत की सजा को पलट दिया था। इसके बाद टीएलपी और अन्य समूहों की अगुवाई में देशभर में प्रदर्शन शुरू हो गए थे। टीएलपी और अन्य समूहों की अगुवाई वाले प्रदर्शनकारियों ने देश के विभिन्न हिस्सों में प्रमुख राजमार्गों और सड़कों को अवरूद्ध कर दिया था।
 
गृह मंत्रालय ने दंगाइयों के खिलाफ आपराधिक कार्यवाही शुरू की और टीएलपी के प्रमुख खादिम हुसैन रिज़वी और आला नेता अफजल कादरी समेत पांच हजार लोगों के खिलाफ दंगा करने तथा शांति बाधित करने के आरोप में मामला दर्ज किया। सूत्रों के अनुसार लाहौर में, पुलिस ने टीएलपी नेताओं समेत 1500 लोगों के खिलाफ सड़कें अवरूद्ध करने और कानून एवं व्यवस्था की समस्या खड़ी करने के आरोप में 11 मामले दर्ज किए हैं.
 
 
फैसलाबाद में, पुलिस ने तीन हजार लोगों के खिलाफ 29 मामले दर्ज किए हैं जबकि 218 लोगों को गिरफ्तार किया है। चिनीओट में तीन मामले दर्ज कर 13 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।  सरगोधा में 300 लोगों के खिलाफ दो मामले और जंग में 150 लोगों के खिलाफ दो मामले दर्ज किए गए हैं।  इनमें से 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS