विदेश
अमेरिकी मध्यावधि चुनाव : 100 भारतीय अमेरिकी चुनाव मैदान में
By Swadesh | Publish Date: 5/11/2018 4:45:09 PM
अमेरिकी मध्यावधि चुनाव : 100 भारतीय अमेरिकी चुनाव मैदान में

वाशिंगटन। अमेरिका में आप्रवासियों के प्रति नकारात्मक रवैया चरम पर है और इनके प्रति राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी इसी तरह के रुख रखते हैं। लेकिन मध्यावधि चुनावों में भारतीय मूल के करीब सौ अमेरिकी उम्मीदवार मैदान में हैं और मजबूत दावेदारी पेश कर रहे हैं। 

 
वैसे तो चुनाव में सभी की निगाहें कथित 'समोसा कॉकस' पर होंगी, लेकिन युवा भारतीय-अमेरिकी उम्मीदवारों का इतनी संख्या में चुनाव लड़ना उनकी बढ़ती महत्त्वकांक्षा को दर्शाता है। विदित हो कि 'समोसा कॉकस' वर्तमान कांग्रेस में पांच भारतीय-अमेरिकियों के समूह को कहा जाता है।
 
गौरतलब है कि अमेरिका की जनसंख्या में भारतीय मूल के अमेरिकियों की आबादी एक प्रतिशत है। लेकिन चुनावी राजनीति में इतनी बड़ी संख्या में उनकी भागीदारी अदभुत है। हालांकि मंगलवार को होने वाले मध्यावधि चुनावों में वर्तमान प्रतिनिधि सभा के सभी चार भारतीय-अमेरिकी सदस्यों की आसान जीत की उम्मीद है।
 
इनमें अमेरिकी कांग्रेस के तीन बार सदस्य रहे अमी बेरा और पहली बार प्रतिनिधि सभा के लिए चुनकर आए तीन सदस्य शामिल हैं जो पुन: निर्वाचन के लिए अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं। इन चार मौजूदा सदस्यों के साथ-साथ सात भारतीय-अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के लिए मैदान में हैं।
 
उद्यमी शिव अय्यादुरई एकमात्र भारतीय-अमेरिकी हैं जो सीनेट के लिए लड़ रहे हैं। निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रहे अय्यादुरई का मुकाबला मजबूत दावेदार एलिजाबेथ वॉरेन से है। उल्लेखनीय है कि केवल यही भारतीय-अमेरिकी उम्मीदवार मैदान में नहीं हैं, बल्कि अनाधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक करीब सौ भारतीय-अमेरिकी उम्मीदवार अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं।
 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS