विदेश
अमेरिका और चीन के बीच व्यापार समझौते की संभावनाएं बढ़ीं
By Swadesh | Publish Date: 23/2/2019 10:36:28 AM
अमेरिका और चीन के बीच व्यापार समझौते की संभावनाएं बढ़ीं

वाशिंगटन। अमेरिका और चीन के बीच व्यापारिक लेन-देन में इलेक्ट्रोनिक भुगतान के लिए वीजा और मास्टर कार्ड पर आम सहमति बन गई है। इन दोनों देशों के बीच भुगतान समस्याओं के संबंध में पिछले कुछ अरसे से मास्टर और वीजा कार्ड को लेकर चीन की ओर से अड़चनें लगाई जा रही थीं। वाशिंगटन में पिछले दो दिनों तक चीन के उप प्रधानमंत्री हू ली के नेतृत्व में अमेरिकी प्रतिनिधियों से उच्चस्तरीय वार्ताओं का दौर चल रहा था। चीन ने अमेरिका से बड़े पैमाने पर कृषि उत्पाद खरीदने के लिए भी हामी भर दी है। इससे मिड वेस्ट में रिपब्लिकन राज्यों में किसानों की फसलों, खासकर सोया की आपूर्ति चीन को की जा सकेगी| 

 
साथ ही समुद्री जलजीवों के उत्पादों का भी चीन को बहुतायत में निर्यात किया जा सकेगा। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से व्हाइट हाउस में मिलने आए चीन के उप प्रधानमंत्री हू ली के नेतृत्व में चीनी प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार को भेंट के दौरान पत्रकारों से कहा कि दो दिवसीय वार्ता के सुखद परिणाम सामने आ रहे हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि दोनों ओर से 370 अरब डालर के व्यापार में आई अड़चनों को दूर कर लिया जाएगा। तभी ट्रम्प ने भी इसी आशय का विचार व्यक्त करते हुए कहा कि हर संभव समझौते होने की आशा है। 
 
हू ली ने यह भी कहा कि उनके नेतृत्व में आया चीनी प्रतिनिधिमंडल दो दिन और अमेरिका रह कर शेष मुद्दों पर आ रही अड़चनों को दूर कर लेने में सहायक होगा। बचे रह गए अन्यान्य मुद्दों में मेमोरेंडम आफ अंडरटेकिंग, साइबर थेफ़्ट, और मार्केट आधारित करेन्सी पर बातचीत आगे बढ़ी है। अमेरिका ने इन तीनों बड़े मुद्दों पर चीन पर कड़े आरोप लगाए हैं। चर्चा है कि जरूरत पड़ेगी तो ट्रम्प और चीनी राष्ट्रपति शी जिन पिंग के बीच मार्च में शिखर वार्ता हो सकती है। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS