Ad
जरा हटके
यतीश ने भारत के नाम किया सबसे लंबा भाषण देने का विश्व रिकार्ड
By Swadesh | Publish Date: 9/1/2019 1:05:47 PM
यतीश ने भारत के नाम किया सबसे लंबा भाषण देने का विश्व रिकार्ड

लखीमपुर खीरी। उत्तर प्रदेश के जनपद खीरी के सपूत यतीश चंद्र शुक्ला ने फिर विश्व में जिले का नाम रोशन किया है। यतीश ने सबसे लंबा भाषण देने का कीर्तिमान बुधवार को हासिल कर लिया। इससे पहले यह कीर्तिमान नेपाल के केसी अनंता के नाम था। यतीश इससे पहले भी सबसे ज्यादा देर तक पढ़ने व पढ़ाने का रिकॉर्ड भी बना चुके हैं।

 
खीरी जिले की मोहम्मदी तहसील के गांव रहरिया निवासी दरोगा शुक्ला के पुत्र यतीश शुक्ला का जन्म 4 मई 1983 को हुआ था। ग्रेजुएशन करने के बाद पोस्ट ग्रेजुएशन और फिर पीएचडी करके यतीश शुक्ला समाज सेवा से जुड़ गए, उनका नाम तब सुर्खियों में आया जब उन्होंने गोरखपुर में 148 घंटे पढ़ाने का विश्व रिकॉर्ड बनाया। 
 
इसके बाद खीरी जिले की गोला तहसील में उन्होंने 123 घंटे पढ़ने का विश्व रिकॉर्ड बनाया, सिर्फ इतना ही नहीं सबसे लंबा भाषण देने का रिकॉर्ड अब तक जो नेपाल राष्ट्र के केसी अनंता के पास था, उसे भी यतीश ने तोड़ दिया। केसी अनंता ने 90 घंटे 2 मिनट लगातार भाषण देने का कीर्तिमान बनाया था, जो बुधवार सुबह भारत के यतीश के नाम हो गया है। सुबह 10:30 बजे तक उन्होंने 91 घंटे पूरे कर लिए थे। यतीश करीब 100 घंटे भाषण देने का कीर्तिमान बनाने की ओर बढ़ रहे हैं। 
 
आपको बता दें कि 5 जनवरी 2019 को लखीमपुर शहर के कृष्णा मैरिज लॉन में दोपहर 3:50 पर यतीश चंद्र शुक्ला ने अपना भाषण शुरू किया था, जो 9 जनवरी को 10:30 पर 91 घंटे पूरे कर चुके हैं। इस दौरान उन्होंने आतंकवाद, टीम वर्क, ऊर्जा संरक्षण, खीरी का इतिहास, आर्थिक विकास व अविश्वास सहित 70 विषयों पर भाषण दिया है। 
 
यतीश ने यह तीसरा विश्व रिकॉर्ड अपने नाम कर न सिर्फ खीरी जिले का नाम रोशन किया है, बल्कि देश का नाम भी विश्व पटल पर रोशन किया है। 91 घंटे पूरे होने के बाद जहां उन्होंने गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा लिया है, तो वहीं गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड के जज डॉ. राकेश वैद्य दिल्ली से लखीमपुर कार्यक्रम स्थल पर पहुंच चुके हैं, जो यतीश शुक्ला को इस कीर्तिमान का प्रमाण पत्र देंगे। देश के नाम हुए इस विश्व रिकार्ड को लेकर लोगों में खासा उत्साह है।
 
यतीश के कार्यक्रम स्थल पर ही भारत माता की जय के नारे लग रहे हैं। यतीश के इस कीर्तिमान ने भारत का नाम एक और विश्व रिकॉर्ड में शामिल करा दिया है। यतीश अभी भाषण दे रहे हैं। 
 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS