ब्रेकिंग न्यूज़
करतारपुर कॉरिडोर: श्रद्धालुओं से शुल्क वसूलने पर अड़ा पाकिस्तान, भारत समझौते के लिए तैयारनक्सल प्रभावित क्षेत्र में तैनात जवानों के चलते हम सुरक्षित: अनुसुईया उइकेविचारधारा से सहमत नहीं लेकिन सावरकर की उपलब्धि को नकारा नहीं जा सकता : अभिषेक सिंघवीछत्तीसगढ़ सीडी कांड : ट्रायल कोर्ट में चल रही सुनवाई पर लगी रोकविराट कोहली के भाई-भाभी समेत कई वीआईपी ने किया मतदानफेसबुक पर ’रोहित’ बनकर अशफाक ने बढ़ाई थी कमलेश तिवारी से दोस्तीजम्मू-कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाने में पुलिस बलों का महत्वपूर्ण योगदान: अमित शाहभारत ने श्रृंखला में दूसरी बार दक्षिण अफ्रीका को दिया फॉलोआन
मध्य प्रदेश
विद्यार्थियों ने आरएके कृषि कॉलेज के मुख्य गेट पर जड़ा ताला, विरोध सोलवें दिन भी जारी
By Swadesh | Publish Date: 24/6/2019 5:51:32 PM
विद्यार्थियों ने आरएके कृषि कॉलेज के मुख्य गेट पर जड़ा ताला, विरोध सोलवें दिन भी जारी

भोपाल। मध्यप्रदेश में विद्यार्थियों द्वारा निजी कृषि कॉलेजों का विरोध किया जा रहा है। इसको लेकर प्रदेशभर में धरना-प्रदर्शन और हड़ताल की जा रही है। सीहोर के आरएके कृषि कालेज के विद्यार्थियों का प्रदेशव्यापी आंदोलन जिला मुख्यालय पर सोमवार को सोलवें दिन भी जारी रहा। 

इसी क्रम में विद्यार्थियों ने हड़ताल, विरोध रैली, नारेबाजी जैसे प्रदर्शनों के बाद आज सोमवार को आरएके कॉलेज भवन मुख्य द्वार के चैनल गेट में ताला जड़ दिया, जिसके चलते कॉलेज के प्रोफेसर कृषि वैज्ञानिक सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी अपने विभागीय कक्षों में नहीं जा सके। विद्यार्थियों के विरोध के चलते कॉलेज के सभी कामकाज ठप हो गए। विद्यार्थियों ने अपनी आठ मांगों को पूरा कराने के लिए हाथों में बेनर पोस्टर रखकर जमकर नारेबाजी की। सूचना मिलने के बाद भी दोपहर तक प्रशासनिक अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे थे।
 
विद्यार्थियों का आरोप है कि प्रदेश में प्राइवेट कृषि कॉलेजों के सैकड़ों विद्यार्थियों को बीएससी एग्रीकल्चर की डिग्री गलत तरीके से बांट रहे हैं, जिससे आईसीएआर से मान्यता प्रात शासकीय विश्वविद्यालय जेएनकेवीवी जबलपुर एवं आरवीएसके वीवी ग्वालियर यूनिवर्सिटी में अध्यनरत विद्यार्थियों पर प्रभाव पड़ रहा है। इसीलिए विद्यार्थियों में आक्रोश है और निजी कृषि कॉलेजों के विरोध में पूरे मध्यप्रदेश के शासकीय कृषि कालेजों, यूनिवर्सिटी में विद्यार्थी राज्य सरकार के खिलाफ आंदोलन, हड़ताल एवं कैंडल मार्च कर गत सोलह दिन से प्रदर्शन कर रहे हैं।
 
विद्यार्थियों की मांग है कि राज्य शासन प्रदेश के सभी निजी कृषि कालेज एवं निजी यूनिवर्सिटी को आईसीएआर की गाइडलाइंस का पालन करने को कहे और पालन नहीं करने पर इनकी मान्यता रद्द की जाए। प्रदर्शन के दौरान बड़ी संख्या में विद्यार्थी मौजूद रहे। फिलहाल प्रदर्शन जारी है और विद्यार्थियों ने आरएके कृषि कालेज भवन मुख्य द्वार के चैनल गेट में ताला जड़ दिया है।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS