ब्रेकिंग न्यूज़
मध्य प्रदेश
इंदौर की शान रीगल टॉकीज का अस्तित्व खत्म, नगर निगम ने किया कब्जा
By Swadesh | Publish Date: 17/9/2019 5:52:12 PM
इंदौर की शान रीगल टॉकीज का अस्तित्व खत्म, नगर निगम ने किया कब्जा

- फिल्म राजा हरिश्चंद्र से 1934 में रीगल टॉकिज की हुई थी शुरुआत 

इंदौर। इंदौर की शान रही शहर की रीगज टॉकीज पर मंगलवार को नगर निगम ने कब्जा कर लिया। दरअसल, लीज समाप्त होने पर निगम ने अपर आयुक्त देवेंद्र सिंह की देखरेख में मंगलवार को निगम अमले ने आयुष्मान खुराना अभिनित फिल्म ड्रीमगर्ल का पोस्टर हटाकर रीगल टाकिज को अपने कब्जे में ले लिया है। इसके साथ ही यहां अब रीगज टॉकिज का अस्तित्व भी खत्म हो गया है।
 
गौरतलब है कि इंदौर के एमजी रोड पर निगम द्वारा लीज पर जमीन लेकर 7 अप्रैल 1934 को रीगल टॉकिज की शुरुआत हुई थी और इसमें सबसे पहली फिल्म राजा हरिश्चंद्र लगी थी, जिसे शहर के हर व्यक्ति ने देखा था। उसके बाद तो यहां बॉलीबुड के सभी बड़े-छोटे कलाकारों की फिल्में एक-एक करके उतरती चली गईं। यहां तीन घंटे बीताकर लोग अपनी जिंदगी को नया मोड़ देते थे। यहां देवानंद और शम्मी कपूर ने अपने निराले अंदाज से लोगों को मनोरंजन किया, तो कभी अमिताभ बच्चन, धर्मेन्द्र, विनोद खन्ना ने अपने एक्शन और कामेड़ी से लोगों को गुदगुदाया और आमीर, सलमान, शाहरूख, अक्षय कुमार की प्रेम कहानियों ने लोगों को प्यार के रिश्तों की डोर में बांधा। आधुनिक युग में भी रीगल टॉकिज मल्टीप्लेक्स को टक्कर दे रहा था और हाल ही में रिलीज हुई ड्रीमगर्ल यहां हाउसफुल चल रही थी, लेकिन मंगलवार को इस टॉकिज के करीब साढ़े आठ दशक से अधिक पुराने इतिहास का अंत हो गया।
 
अपर आयुक्त देवेंद्र सिंह के नेतृत्व में नगर निगम अमले ने न्यायालय के आदेश पर रीगल टॉकिज पर कब्जा कर लिया। इससे पहले टॉकिज में चल रही ड्रीमगर्ल मूवी को रुकवाया गया और फिर बाहर लगे पोस्टर उतारकर इसका पर कब्जा किया गया। बताया जा रहा है कि 22 हजार वर्ग फीट में फैले रीगल सिनेमा की लीज अवधि कुछ समय पहले समाप्त हो गई थी। लीज समाप्त होने के बाद निगम ने जगह खाली करने का नोटिस जारी किया था। इसके बाद रीगल प्रबंधन ने हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की थी। हाईकोर्ट ने याचिका की सुनवाई करते हुए गत सात सितम्बर को दोनों पक्षों को सुनने के बाद याचिका को खारिज कर दी थी। इसके बाद नगर निगम ने रीगल टॉकीज की जगह खाली करने के लिए नोटिस चस्पा किया था। मंगलवार को निगम ने फिल्म के पोस्टर हटाकर यहां कब्जा कर लिया। 
 
निगम के अपर आयुक्त देवेन्द्र सिंह ने बताया कि लीज अवधि समाप्त होने के बाद भी सिनेमाघर प्रबंधन जगह खाली नहीं कर रहा था, इसलिए निगम को यह कार्रवाई करनी पड़ी। अब यहां कोई नया प्रोटेक्ट लाया जाएगा। वहीं, टॉकीज के मैनेजर मुकेश शाह इस मामले में कुछ भी बोलने से बचते रहे और भूली बिसरी यादे सुनाते नजर आए।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS