मध्य प्रदेश
भोपाल में डेंगू का कहर; ईओडब्ल्यू की इंस्पेक्टर की संदिग्ध मौत
By Swadesh | Publish Date: 21/10/2019 8:17:11 PM
भोपाल में डेंगू का कहर; ईओडब्ल्यू की इंस्पेक्टर की संदिग्ध मौत

भोपाल. राजधानी में पदस्थ ईओडब्ल्यू की इंस्पेक्टर सीमा पटेल की डेंगू से संदिग्ध मौत हो गई है। उनका चार दिन से एक निजी अस्पताल में डेंगू का इलाज चल रहा था। महिला इंस्पेक्टर की सोमवार को सुबह मौत हो गई। हालांकि डेंगू से मौत की पुष्टि तब मानी जाएगी, जब मरीज की रिपोर्ट एलाइजा पॉजिटिव आएगी। ये जांच सरकारी अस्पतालों में ही होती है। इसलिए मरीज को डेंगू था या नहीं। इसके लिए एलाइजा रिपोर्ट का इंतजार है।
राजधानी में डेंगू का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। तीन दिन पहले डेंगू फैलने की शिकायत मिलने पर स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट और जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा शहर के कई इलाकों में डेंगू की जांच कराई थी और सामने ही दवाओं का छिड़काव किया था।
जनवरी से अब तक मिले 706 डेंगू मरीज
जनवरी से अब तक डेंगू के 706 मरीज और 43 हजार से ज्यादा घरों में लार्वा मिल चुका है. लगातार डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के मरीज सामने आ रहे हैं। वहीं चिकनगुनिया के 141... और मलेरिया के 80 मरीज मिल चुके हैं। डेंगू का संक्रमण पिछले साल के मुकाबले ज्यादा है। जब स्वास्थ्य मंत्री ने निरीक्षण किया तो निगम अमला की नींद खुली है। खाली प्लॉट जिन पर कचरा और पानी जमा है उन्हें नोटिस दिया जाएगा, फिर पेनाल्टी लगाई जाएगी।
44.30 लाख कंटेनरों में जांचा लार्वा
साकेत नगर, बरखेड़ा पठानी, बागसेवनिया, सेमरा, अशोका गार्डन, नेहरू नगर, कोटरा, सर्वधर्म सी सेक्टर, दामखेड़ा, सलैया.. ये वे इलाके हैं जहां ज्यादातर प्लॉटों पर गंदगी और पानी जमा है...संक्रमण भी यहां ज्यादा है। नगर निगम के अनुसार, लार्वा मिलने पर 15 दिन में कार्रवाई,19 जाेन हैं नगर निगम ने 288 प्रकरण बनाए।


COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS