मध्य प्रदेश
कमलनाथ ने एग्जिट पोल को बताया मनोरंजन, कहा-हम फ्लोर टेस्ट के लिये तैयार
By Swadesh | Publish Date: 21/5/2019 4:00:25 PM
कमलनाथ ने एग्जिट पोल को बताया मनोरंजन, कहा-हम फ्लोर टेस्ट के लिये तैयार

भोपाल। हाल ही में संपन्‍न हुए लोकसभा चुनाव के बाद एग्जिट पोल के नतीजों में भाजपा-राजग की सरकार बनने के संकेत के बाद मध्‍यप्रदेश में भी सियासी बवाल मच गया है। राज्य में बसपा-सपा और निर्दलीय विधायकों के समर्थन से चल रही कमलनाथ सरकार को गिराने के लिए भाजपा तैयारी कर रही है तो कांग्रेस को अपनी सरकार के बने रहने का भरोसा है। वह एग्जिट पोल को सिरे से नकार रही है। इसी को लेकर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री कमलनाथ का मंगलवार को एक और बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने एग्जिट पोल के नतीजों पर कटाक्ष करते हुये कहा कि यह सिर्फ मनोरंजन का साधन है। 

 
कमलनाथ ने कहा है कि सोशल मीडिया पर भी इसे घोटाला बताया जा रहा है। जिसे लेकर भाजपा जश्‍न मना रही है, जबकि 23 मई को नतीजे आप सभी के सामने होंगे। यह बात मुख्‍यमंत्री कमलनाथ ने आज प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पूर्व प्रधानमंत्री स्‍व. राजीव गांधी के श्रद्धांजलि कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बातचीत में कही। 
 
इस दौरान मुख्यमंत्री ने भाजपा द्वारा विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की मांग को लेकर कहा कि वे एक बार फिर बहमुत साबित करने के लिये तैयार हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा अपने कार्यकर्ताओं का मनोबल बनाये रखने के लिये इस तरह की मांग कर रही है। जबकि हम पिछले 4 महीने में 4 बार फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित कर चुके हैं। उन्‍होंने कहा कि जब राजीव गांधी कम्प्यूटर और आईटी लाये थे, तब लोग उन पर हंसते थे। लोगों का कहना था कि यह सब बेकार है, लेकिन आज उन्‍हीं के प्रयासों से देश की पहचान दुनिया में बनी है।
 
उल्लेखनीय है कि प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में मंगलवार को ही पार्टी उम्‍मीदवारों की एक बैठक भी बुलाई गई है। इसमें मुख्‍यमंत्री कमलनाथ लोकसभा चुनाव लड़ रहे पार्टी उम्‍मीदवारों से चर्चा कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि इसके बाद वे मंत्रियों और विधायकों से भी अलग से चर्चा करेंगे। दो अलग-अलग बैठकों में लोकसभा चुनाव के एग्जिट पोल के आये नतीजों के बारे में विचार-विमर्श किया जायेगा। जिसमें पार्टी उम्‍मीदवारों और विधायकों से उनके क्षेत्र के बूथवार जानकारी प्राप्त की जायेगी। साथ ही मंत्रियों से उनके गृह जिले और प्रभार वाले जिले में सौंपी गई जिम्मेदारी पर भी मंथन होगा। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS