मध्य प्रदेश
वर्षगांठ समारोह का हुआ समापन, अंतिम दिन हुई मनमोहक प्रस्तुतियां
By Swadesh | Publish Date: 11/6/2019 1:57:55 PM
वर्षगांठ समारोह का हुआ समापन, अंतिम दिन हुई मनमोहक प्रस्तुतियां

भोपाल। मध्यप्रदेश जनजातीय संग्रहालय में जनजातीय जीवन, देशज ज्ञान परम्परा एवं सौन्दर्यबोध पर एकाग्र पांच दिवसीय 'छठवें वर्षगांठ समारोह' का सोमवार को देर रात समापन हुआ। समापन संध्या पर संग्रहालय के मुक्तकाश मंच पर कलाकारों ने गायन और नृत्य की मनमोहक प्रस्तुतियां दी गईं। कलाकारों ने अपनी कला प्रदर्शन से दर्शकों-श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया।

 
वर्षगांठ समारोह में सोमवार शाम को कार्यक्रम की शुरुआत यूपी की रंजना अग्रहरी ने अपने साथी कलाकारों के साथ 'अवधी-भोजपुरी गायन' से क। उन्होंने सबसे पहले देवी गीत 'वीणा के बजैया सातो सुर के रचैइया' पेश किया। इसके बाद किसानी गीत 'हमरे भैया वतन के सिपाही हम किसानी करावल करीला', 'चम-चम चमके सुरुजवा के कीरिनिया' और दादरा 'हमरी अटरिया पे आजा रे सावरिया' प्रस्तुत कर श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। दादरा की मोहक प्रस्तुति के बाद रंजना अग्रहरी क्रमश: नकटा 'मानई ना बतिया हमार', गोदना गीत 'गोदना गोदै गोदन हारी' और पूर्वी गीत 'सैया मोरे गैले रामा', विकास गीत 'हमार पिया खेती मा पाइन ईनाम' और मेला गीत 'जरा ललकार के बैला हाकौ मोरे सैया गाड़ीवान' पेश कर अपनी गायन प्रस्तुति को विराम दिया। 
 
गायन के बाद नृत्य की प्रस्तुतियां शुरू हुईं, सर्वप्रथम अर्जुन बागमारे (मध्यप्रदेश) ने अपने 20 कलाकारों के साथ 'डंढार नृत्य'  प्रस्तुत किया। इसके बाद मावाराम गरासिया (राजस्थान) ने अपने साथी कलाकारों के साथ गरासिया जनजाति का 'वालर नृत्य', राजन वैद्य (महाराष्ट्र) ने अपने 20 कलाकारों के साथ कठाकुर जनजाति का 'सोंगी मुखौटा नृत्य', हेमलता तिरकी (छत्तीसगढ़) ने अपने 20 कलाकारों के साथ 'करमा नृत्य', अर्जुन बागमारे (मध्यप्रदेश) ने अपने 20 कलाकारों के साथ बाँसुरी की धुन पर 'ठाठ्या नृत्य', मावाराम गरासिया (राजस्थान) ने अपने साथी कलाकारों के साथ गरासिया जनजाति का 'गैर नृत्य', राजन वैद्य (महाराष्ट्र) ने अपने 20 कलाकारों के साथ 'तारपा नृत्य' प्रस्तुत कर कार्यक्रम में समां बांध दिया। अंत में प्रताप सिंह (मध्यप्रदेश) ने अपने 20 साथी कलाकारों के साथ भील जनजाति का 'भगोरिया नृत्य' पेश कर कार्यक्रम का समापन किया। देर रात तक चली नृत्य प्रस्तुतियों ने दर्शकों को झूमने पर विवश कर दिया।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS