मध्य प्रदेश
मप्र विधानसभा का मानसून सत्र शुरू, दिवंगतों को श्रद्धांजलि के बाद मंगलवार तक स्थगित.
By Swadesh | Publish Date: 8/7/2019 1:50:35 PM
मप्र विधानसभा का मानसून सत्र शुरू, दिवंगतों को श्रद्धांजलि के बाद मंगलवार तक स्थगित.

भोपाल। मध्यप्रदेश की पंद्रहवीं विधानसभा का मानसून सत्र सोमवार को शुरू हुआ। सदन की कार्यवाही की शुरुआत पिछले कुछ दिनों में दिवंगत हुए राजेनताओं और नक्सली-आतंकी हमलों में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देने से हुई और उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित करने के बाद दिवंगतों के सम्मान में विधानसभा अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद (एनपी) प्रजापति द्वारा मंगलवार, 09 जुलाई तक सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी। 

 
विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति द्वारा सोमवार को सदन की कार्यवाही दिवंगत राजनेताओं और नक्सली-आतंकवादी हमलों के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए की। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष द्वारा सदन में पूर्व केंद्रीय मंत्री और लगातार चार बार गोवा के मुख्यमंत्री रहे मनोहर पर्रिकर, पूर्व विधानसभा सदस्य कुमारी विमला वर्मा, शिवनारायण मीणा, सुन्दरलाल तिवारी, गंगाबाई उरैती, विजय कुमार पाटनी, सतीश कुमार चौहान, मीरा धुर्वे, बलराम सिंह ठाकुर के साथ-साथ छत्तीसगढ़ में हुए नक्सली हमले में भोपाल के शहीद हरिश्चंद्र पाल तथा जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आंतकवादी हमले में शहीद देवास जिले के संदीप यादव के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए उनके जीवन पर प्रकाश डाला और कामना की कि ईश्वर उनकी आत्मा को शांति और उनके परिजनों को दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करें।
 
इसके बाद सदन के नेता और मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस पार्टी और सदन की ओर तथा नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दिवंगतों के राजनीतिक जीवन पर प्रकाश डालते हुए उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किये। तत्पश्चात सदन में दिवंगतों की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन हुआ और उसके बाद विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दी। उल्लेखनीय है कि यह मध्यप्रदेश की पंद्रहवीं विधानसभा का तीसरा सत्र है, जो कि आगामी 26 जुलाई तक चलेगा। इस 19 दिवसीय सत्र में कुल 15 बैंठकें होंगी। इस दौरान सदन में विधायकों द्वारा चार हजार 362 सवाल पूछे जाएंगे। बुधवार, 10 जुलाई को वित्त मंत्री तरुण भनोट द्वारा सदन में वर्ष 2019-20 का बजट प्रस्तुत किया जाएगा। 
 
विधान के प्रमुख प्रमुख सचिव अवधेश प्रताप सिंह ने बताया कि विधानसभा सचिवालय को मानसून सत्र के लिए 4362 प्रश्नों की सूचनाएं मिली हैं, जबकि ध्यानाकर्षण की 206, स्थगन प्रस्ताव की 23, अशासकीय संकल्प की 22 तथा शून्यकाल की 47 सूचनाएं मिली हैं। इसके अलावा शासकीय विधेयकों की भी 6 सूचनाएं प्राप्त हुई हैं, जो मानसून सत्र में सदन की कार्यवाही के दौरान प्रस्तुत की जाएंगी। इस बार विधानसभा की कार्यवाही हंगामेदार होने की संभावना है, क्योंकि विपक्ष ने किसान कर्जमाफी, अघौषित बिजली कटौती, बिगड़ी कानून व्यवस्था को लेकर सरकार को घेरने की पूरी तैयारी की है, तो वहीं राज्य सरकार ने भी विपक्ष को घेरने के लिए रणनीति बनाई है।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS