ब्रेकिंग न्यूज़
उन्नाव गैंगरेप का विरोध दिल्ली तक पहुंचा, राजघाट से इंडिया गेट तक कैंडल मार्च निकाल रहे लोगइनकम टैक्स रेट में हो सकती है कटौती, निर्मला सीतारमण ने दिए संकेतहैदराबाद एनकाउंटर: मामले की जांच के लिए पहुंची मानवाधिकार आयोग की टीममहिला अपराधों के खिलाफ सक्रिय हुई केंद्र सरकार, कानून मंत्री बोले- दो महीने में पूरी हो रेप की जांचउन्नाव दुष्कर्म पीड़ित के लिए इंसाफ की मांग; लोगों ने कैंडल मार्च निकाला, महिला ने बेटी को जलाने की कोशिश कीराज्यसभा उपचुनाव : उप्र से अरुण सिंह और कर्नाटक से राममूर्ति को भाजपा ने बनाया उम्मीदवारमहाराष्ट्र के 286 विधायकों ने ली पद एवं गोपनीयता की शपथलोकसभा में बना रिकॉर्ड, प्रश्नकाल में पूछे गए सभी सवालों के दिए गए जवाब
मध्य प्रदेश
सांसद केपी ने साधा कमलनाथ सरकार पर निशाना, कहा- मप्र की कानून व्यवस्था की स्थिति खराब
By Swadesh | Publish Date: 30/9/2019 6:46:16 PM
सांसद केपी ने साधा कमलनाथ सरकार पर निशाना, कहा- मप्र की कानून व्यवस्था की स्थिति खराब

शिवपुरी। गुना शिवपुरी संसदीय क्षेत्र के भाजपा सांसद केपी यादव ने सोमवार को मप्र की कमलनाथ सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति खराब है। 
 
गुना-शिवपुरी संसदीय क्षेत्र के सांसद केपी यादव ने आज शिवपुरी जिले के भावखेड़ी गांव पहुंचे और दो दलित बच्चों की हत्या के बाद पीड़ित परिवार से मुलाकात की। इस दौरान केपी यादव ने दलित पीड़ित परिवार को हर संभव मदद का आश्वासन दिया। 
 
इस मौके पर सांसद केपी यादव ने पत्रकारों से कहा कि इस पीड़ित परिवार को अभी तक पीएम आवास नहीं मिल पाया है। उन्होंने कलेक्टर को कहा है कि जल्द से जल्द इस पीड़ित परिवार को पीएम आवास सहित अन्य योजनाओं का लाभ दिलाया जाए। केपी यादव ने मप्र की कानून व्यवस्था की स्थिति पर चिंता जताते हुए कहा कि प्रदेश में जब से कांग्रेस की कमलनाथ सरकार आई है, तब से कानून व्यवस्था का बुरा हाल है। अपराधों में वृद्धि हुई है और प्रदेश सरकार कोई उपाय नहीं कर रही है। 
 
इससे पहले कल शिवपुरी विधायक यशोधरा राजे सिंधिया ने भी पीड़ित परिवार से भावखेड़ी गांव पहुंचकर मुलाकात की थी। 
 
गौरतलब है कि शिवपुरी जिले के भावखेड़ी गांव में बीते रोज यहां पर शौच के लिए गए दो दलित बच्चों की हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने इस मामले में दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा जिला प्रशासन की ओर से पीड़ित परिवार को चार-चार लाख रुपये की आर्थिक सहायता भी उपलब्ध कराई गई है।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS