मध्य प्रदेश
आदिवासी दिवस पर आंदोलन की आशंका के चलते प्रशासन अलर्ट
By Swadesh | Publish Date: 9/8/2018 3:15:54 PM
आदिवासी दिवस पर आंदोलन की आशंका के चलते प्रशासन अलर्ट

 ग्वालियर। आदिवासी दिवस पर 9 अगस्त को संभावित आंदोलन की आशंका के चलते ग्वालियर, भिंड, मुरैना और शिवपुरी चार जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है। श्योपुर में स्थानीय अवकाश घोषित किया गया है। पुलिस प्रशासन दिन भर संदिग्धों की तलाश में सक्रिय रहा। इसके चलते भिंड-मुरैना में 500 और ग्वालियर में 300 संदिग्धों को बाउंड आेवर किया है।

 
प्रशासनिक अधिकारियों गुरुवार को कहीं भी किसी तरह का आंदोलन न होने का दावा किया है। लेकिन साथ ही एहतियात के तौर पर सुरक्षा के पूरे प्रबंध किए हैं। हालांकि ग्वालियर व मुरैना में बुधवार सुबह से धारा 144 लागू कर दी गई थी। जबकि भिंड में मंगलवार से ही 144 लागू है। सरकारी तौर पर स्कूलों या दफ्तर की छुट्टी घोषित नहीं की है। लेकिन ग्वालियर में प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने सुरक्षा के लिहाज से गुरुवार की छुट्टी घोषित कर दी है। इसी तरह मुरैना में भी कुछ स्कूलों ने छुट्टी कर दी है। भिंड-मुरैना में पुलिस ने कल शाम को फ्लैग मार्च निकाला। भिंड में कलेक्टर आशीष कुमार गुप्ता ने इंटरनेट बंद करने के लिए पत्र लिखा है। हालांकि अभी यह तय नहीं है कि इंटरनेट बंद होगा या नहीं। वहीं सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट डालने वाले तीन लोगों पर केस दर्ज किया गया है। भिंड के एएसपी गुरुकरन सिंह ने बताया कि बाजार खुले रहेंगे और वाहन भी चलेंगे। बंद को लेकर भिंड पुलिस ने ऐसे लोगों को चिंहित किया है, जो कि उपद्रव कर सकते हैं। रौन पुलिस ने 2 अप्रैल के दंगे के आरोपी कमलेश राठौर निवासी मछंड को भी गिरफ्तार कर लिया है।
 
आदिवासी दिवस पर संभावित आंदोलन को लेकर कोई चेहरा या संगठन सामने नहीं आया है। बावजूद इसके सूचनाआें के आधार पर अलर्ट हुए जिला आैर पुलिस प्रशासन ने किसी भी स्थिति से निपटने आैर शहर में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए जगह-जगह सुरक्षा बल तैनात किया है। शहर में 13 अगस्त तक धारा 144 लागू की गई है। आईजी अंशुमान यादव ने कहा- अंचल में सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं।
 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS