Ad
ब्रेकिंग न्यूज़
पदमा शुक्ला हुई बागी, भाजपा का साथ छोड़ थामा कांग्रेस का हाथUN ग्लोबल मीडिया कॉम्पैक्ट में भारत का सूचना प्रसारण मंत्रालय शामिलकांग्रेस का वित्त मंत्री पर पलटवार, 'मोदी सल्तनत के दरबारी विदूषक' बनने को बेताब हैं अरुण जेटलीजम्मू कश्मीर : नियंत्रण रेखा के पास सुरक्षाबलों का आतंक निरोधक अभियान, 3 आतंकियों को किया ढेरपश्चिम बंगाल में एक और हादसा, दक्षिण 24 परगना जिले में गिरा निर्माणाधीन पुलशिवराज सरकार में मंत्री दर्जा प्राप्त पदमा शुक्ला ने छोड़ी पार्टी, भाजपा में मचा हड़कंपअब क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों का भी होगा एकीकरण, संख्या घटकर होगी 36पाकिस्तान के खिलाफ मैच में रोहित-धवन ने की ताबड़तोड़ बैटिंग, बड़े-बड़े धुरंधरों के टूटे कई रिकॉर्ड
मध्य प्रदेश
अब कैदियों को नहीं लाना पड़ेगा कोर्ट, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये होगी पेशी
By Swadesh | Publish Date: 7/7/2018 3:55:45 PM
अब कैदियों को नहीं लाना पड़ेगा कोर्ट, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये होगी पेशी

 इंदौर।  इंदौर में अब कैदियों को पेशी के लिए जेलों से जिला कोर्ट ले जाने की जरूरत नहीं होगी। इंदौर की जिला कोर्ट में शुक्रवार से पहली बार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कैदियों की पेशी की शुरुआत हुई। अब धीरे-धीरे सभी कोर्ट रूम में इस तरह की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की व्यवस्था शुरू की जाएगी। जिला कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से धारा 307 के तहत निरुद्ध दो कैदियों के बयान दर्ज कराए गए और वकीलों द्वारा सवाल जवाब भी किए गए।

 
शासकीय अधिवक्ता श्याम दांगी ने बताया कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कैदियों की पेशी कराए जाने से धन और समय की बचत होगी। पहले विशेष परिस्थितियों में ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पेशी कराई जाती थी। अब यह व्यवस्था सभी कोर्ट में लागू की जा रही है। शासकीय अधिवक्ता इस व्यवस्था से पक्षकारों के वकील भी काफी खुश हैं।
 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS