Ad
ब्रेकिंग न्यूज़
राहुल गांधी के खिलाफ आपराधिक केस दर्ज करने के लिए दायर याचिका पर सुनवाई 26 तक टलीराहुल के ‘चोकीदार चोर है’ अभियान के बचाव में आई कांग्रेसप्रधानमंत्री मोदी के विकास कार्यों की विरासत को आगे बढ़ाऊंगा: गौतम गंभीरभाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी, रमेश बिधूड़ी सहित गौतम गंभीर और हंसराज हंस ने दाखिल किया नामांकनउप्र में तीसरे चरण का मतदान समाप्त, मुलायम समेत 120 उम्मीदवारों के भाग्य ईवीएम में कैदअखिलेश की सभा में तोड़ी कुर्सियां, नारेबाजी के कारण डिंपल नहीं दे पायीं पूरा भाषणफरीदाबाद को गुंडाराज से मुक्ति दिलाएंगे नवीन जयहिंद : सिसोदियासुषमा, शिवराज व तीन पूर्व मंत्रियों की मौजदगी में भरा भाजपा उम्मीदवार भार्गव ने नामांकन
मध्य प्रदेश
भाजपा ने गोविंदपुरा से कृष्णा गौर को उतारा, सरताज की सीट अभी होल्ड
By Swadesh | Publish Date: 8/11/2018 3:36:29 PM
भाजपा ने गोविंदपुरा से कृष्णा गौर को उतारा, सरताज की सीट अभी होल्ड

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी ने मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए गुरुवार को उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी कर दी है। इस सूची में 32 प्रत्याशियों की घोषणा की गई है, जिसमें भोपाल की गोविन्दपुरा सीट से बाबूलाल गौर की बहू और पूर्व भोपाल महापौर कृष्णा गौर को टिकट दिया गया है। वहीं, सरताज सिंह के विधानसभा क्षेत्र सिवनी मालवा को अभी होल्ड पर रखा गया है।

 
बता दें कि गोविन्दपुरा विधानसभा सीट से बाबूलाल गौर दस बार विधायक रहे हैं। ऐसे में यह उनकी पुस्तैनी सीट मानी जा रही थी, लेकिन यहां से भोपाल महापौर आलोक शर्मा और बीडी शर्मा को दावेदार माना जा रहा था। ऐसे में बाबूलाल गौर ने ऐलान किया था कि गोविन्दपुरा सीट से उन्हें या उनकी बहू कृष्णा गौर को टिकट नहीं मिला, तो वे स्वयं नरेला सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे, जबकि कृष्णा गौर को गोविन्दपुरा सीट से चुनाव लड़ाएंगे। वहीं, कृष्णा गौर ने कहा था कि वे गोविन्दपुरा सीट से चुनाव अवश्य लड़ेंगी। उन्होंने क्षेत्र के जमीनी स्तर पर काम किया है। भाजपा अगर टिकट नहीं देंगी, तो वे निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर अपना नामांकन दाखिल करेंगी। 
 
इधर, भाजपा की तीसरी सूची जारी होने के बाद अब तक पार्टी द्वारा 230 में से 224 सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा हो चुकी है। शेष बची छह सीटों में पूर्व मंत्री सरताज सिंह की सिवनीमालवा सीट को भी अभी भाजपा ने होल्ड पर रखा है। इस सीट को लेकर भी भाजपा में घमासान मचा हुआ है। सरताज सिंह स्वयं यहां से टिकट मांग रहे हैं, जबकि उम्र के लिहाज से भाजपा यहां से किसी ओर को टिकट देने पर विचार कर रही है। इसके लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नर्मदा अस्पताल के संचालक डॉ. राजेश शर्मा का नाम आगे बढ़ाया है। भाजपा की चौथी सूची आने के बाद ही यहां की स्थिति तय हो पाएगी।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS