Ad
ब्रेकिंग न्यूज़
चुनावी शंखनाद के बाद फिर 27-28 सितंबर को मध्य प्रदेश आएंगे राहुलपदमा शुक्ला हुई बागी, भाजपा का साथ छोड़ थामा कांग्रेस का हाथUN ग्लोबल मीडिया कॉम्पैक्ट में भारत का सूचना प्रसारण मंत्रालय शामिलकांग्रेस का वित्त मंत्री पर पलटवार, 'मोदी सल्तनत के दरबारी विदूषक' बनने को बेताब हैं अरुण जेटलीजम्मू कश्मीर : नियंत्रण रेखा के पास सुरक्षाबलों का आतंक निरोधक अभियान, 3 आतंकियों को किया ढेरपश्चिम बंगाल में एक और हादसा, दक्षिण 24 परगना जिले में गिरा निर्माणाधीन पुलशिवराज सरकार में मंत्री दर्जा प्राप्त पदमा शुक्ला ने छोड़ी पार्टी, भाजपा में मचा हड़कंपअब क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों का भी होगा एकीकरण, संख्या घटकर होगी 36
मध्य प्रदेश
अस्पताल से नहीं मिला शव वाहन, बेटे ने मां के शव को वाइक में बांधकर पहुंचा पोस्टमॉर्टम हाउस
By Swadesh | Publish Date: 10/7/2018 3:41:42 PM
अस्पताल से नहीं मिला शव वाहन, बेटे ने मां के शव को वाइक में बांधकर पहुंचा पोस्टमॉर्टम हाउस

भोपाल। आज देश को आजाद हुए 70 साल हो गया है लेकिन देश में स्वास्थ्य सुविधाओं का हाल जस का तस बना हुआ है। कहने के लिए तो देश के सरकारी अस्पतालों में सुविधा की कोई कमी नहीं है लेकिन यह सुविधा सिर्फ कागजों तक ही सीमित है। जो किसी से छुपा नहीं है। आए दिन अक्सर अस्पतालों में यह तस्वीर देखने को मिलता है जो मानवता को शर्मसार करने वाली होती है। हाल ही में मध्य प्रदेश के टीकमगढ़ जिले में सरकारी शव वाहन नहीं मिलने के कारण एक महिला के शव को उसके बेटे ने बाइक पर बांध कर पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंचाया। बताया जा रहा है कि महिला की मौत कल सांप के काटने से हुई थी। जिसके चलते पुलिस ने शव का पोस्टमॉर्टम कराने की बात कही। महिला के बेटे ने सरकारी शव वाहन के लिए कई बार फोन किया, लेकिन कोई व्यवस्था नहीं हो पाई। अंत में थक-हारकर बेटे ने अपनी मां के शव को बाइक पर रस्सी से बांधकर पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंचाया। 
 दरअसल, मोहनगढ़ थाना क्षेत्र के मस्तापुर गांव की रहने वाली बुजुर्ग महिला कुंवर बाई वंशकार की सांप के काटने से मौत हो गई थी। इसकी जानकारी मृतका के परिजनों ने मोहनगढ़ थाना पुलिस को दी। मृतका के बेटे का कहना है कि पुलिस ने मौके पर पहुंचकर महिला के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजने की बात कही। पुलिस ने महिला के शव को खुद पोस्टमॉर्टम के लिए ले जाने की जहमत नहीं उठाई। पुलिस ने मृतका के परिजनों को ही शव जिला अस्पताल ले जाने की सलाह दे डाली। इसके बाद महिला के बेटे ने सरकारी शव वाहन के लिए कई बार फोन किया, लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। अंत में वाहन न होने के चलते बेटे ने अपनी मां के शव को जैसे-तैसे बाइक पर रस्सी के सहारे बांधकर पोस्टमॉर्टम हाउस पहुंचाया। इस पूरे मामले में पुलिस और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कुछ भी बोलने को तैयार नही हैं।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS