मध्य प्रदेश
मजदूरों के बच्चों के प्लेसमेंट के लिए सरकार बना रही योजना: श्रम मंत्री
By Swadesh | Publish Date: 11/2/2019 10:58:48 AM
मजदूरों के बच्चों के प्लेसमेंट के लिए सरकार बना रही योजना: श्रम मंत्री

इंदौर। मध्यप्रदेश सरकार श्रमिकों के बच्चों को बेहतर शिक्षा देकर उनके प्लेसमेंट के लिए योजना बना रही है। यह बात प्रदेश के श्रम मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने रविवार की रात इंदौर जिले के बेटमा में श्रमोदय विद्यालय के लोकार्पण अवसर पर कही। 

 
उन्होंने कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर 50 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित आवासीय विद्यालय का लोकार्पण किया। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक विशाल पटेल, श्रमिक नेता लक्ष्मी नारायण पाठक और श्याम सुंदर यादव सहित अन्य जनप्रतिनिधि, मध्यप्रदेश के श्रमायुक्त आशुतोष अवस्थी, एडीएम अजय देव शर्मा, एसडीएम अदिति गर्ग, मध्यप्रदेश कर्मकार निर्माण मंडल के सचिव एलएन पाठक, अपर श्रमआयुक्त प्रभात दुबे सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।
 
श्रम मंत्री सिसोदिया ने कहा कि श्रमिकों का कल्याण मध्यप्रदेश सरकार की प्राथमिकता में है। श्रमिकों के बच्चों को अच्छी शिक्षा मिले और उन्हें बेहतर प्लेसमेंट मिले इसके लिए सरकार योजना बना रही है। मज़दूरों के बच्चों को 5 साल विदेश भेजने की योजना पर भी काम किया जा रहा है। कौशल प्रशिक्षण और रोजगार के अनुभव के उपरांत ये स्वदेश लौटकर मातृभूमि की सेवा करेंगे।
 
स्वास्थ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट ने बेटमा में मजदूरों के बच्चों के लिए बने इस भव्य आवासीय विद्यालय के लिए श्रमिक संवर्ग को बधाई दी। उन्होंने कहा कि मैं ख़ुद श्रमिक वर्ग से आता हूँ और श्रमिक वर्ग अपनी मेहनत और खून पसीने की कमाई से अपना भविष्य तय करता है। उन्होंने आवासीय विद्यालय के बच्चों को सीख दी कि वे अच्छी शिक्षा ग्रहण करें और अच्छे नागरिक बनें। उन्होंने कहा कि शिक्षा से ही जीवन में बदलाव आता है। उन्होंने विद्यालय के गुरूजनों से कहा की श्रमिकों ने विश्वास के साथ अपने बच्चों को उन्हें सौंपा है। वे इस विश्वास पर खरा उतरें और इन बच्चों की बेहतर परवरिश करें। सिलावट ने लोकार्पण अवसर पर उपस्थित बच्चों के माता पिता से कहा कि उन्होंने जिस विश्वास के साथ अपने बच्चों को यहाँ भेजा है सरकार उस विश्वास को पूरा करेगी।
 
क्षेत्रीय विधायक विशाल पटेल ने कहा कि यह विद्यालय श्रमिकों के बच्चों का उज्जवल भविष्य सुनिश्चित करेगा। उन्होंने विद्यालय परिसर में खेल के मैदान और स्वास्थ्य सेवा सहित पक्की सडक़ की आवश्यकता बतायी। उनकी माँग पर श्रम मंत्री सिसोदिया ने खेल के मैदान और सडक़ निर्माण की तत्काल स्वीकृति की। घोषणा भी की। कार्यक्रम में विद्यालय के छात्र छात्राओं ने आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS