Ad
मध्य प्रदेश
सदन में गूंजा आध्यात्म विभाग का मुद्दा, विपक्ष ने पूछा तीर्थ पर कितनी ट्रेनें गई
By Swadesh | Publish Date: 20/2/2019 5:18:28 PM
सदन में गूंजा आध्यात्म विभाग का मुद्दा, विपक्ष ने पूछा तीर्थ पर कितनी ट्रेनें गई

भोपाल। प्रदेश की नई कांग्रेस सरकार द्वारा बनाए गए आध्यात्म विभाग का मुद्दा बुधवार को विधानसभा सदन में भाजपा विधायक विश्वास सारंग ने उठाया। विश्वास सारंग ने सरकार से प्रश्र करते हुए पूछा कि आध्यात्म विभाग का गठन किन किन विभागों को तोड़मरोड़ कर बनाया गया है और इतनी जल्दी में क्यों बनाया गया है। इसके साथ ही उन्होंने विभाग के अंतर्गत पुजारियों को वेतन भत्ते के भुगतान किए जाने संबंधी प्रश्र पूछा। 

 
प्रश्र का जवाब देते हुए धर्मस्थ एवं विधि विधायी मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि आध्यात्म विभाग किसी भी विभाग को तोड़ मरोड़ कर नहीं बनाया गया है, बल्कि धार्मिक और आनंद विभाग को जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि आध्यात्म से ही आनंद आता है। 1985 में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने संसद में आध्यात्म विभाग का विचार दिया था लेकिन वह अब जाकर साकार हुआ है। पुजारियों को मानदेय दिए जाने पर उन्होंने कहा कि सभी का 3 गुना मानदेय बढ़ाया गया है। 
 
इस दौरान नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने बीच में टोकते हुए कहा कि सरकार यह बताए कि पिछले दो महिने में तीर्थदर्शन योजना के तहत कितनी ट्रेन और यात्री भेजे गए है। सरकार तारीख और संख्या बता दें। इस पर जवाब देते हुए मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि कुंभ से बड़ा कोई तीर्थ नहीं होता। सरकार द्वारा कई जिलों से कुंभ के लिए ट्रेन चलाई जा रही है। इस पर पक्ष और विपक्ष के बीच बहस हो गई। एक ओर जहां विपक्ष ने पूछा कि हमारी सरकार द्वारा जो डेस्टिनेशन निर्धारित किए गए थे वहां गई या नहीं यह बताए वहीं सत्ता पक्ष के सदस्य भी खड़े हो गए और सदन में शोर करना शुरू कर दिया। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS