मध्य प्रदेश
गांवों में समग्र विकास के लिए काम करें पंचायत प्रतिनिधि: केन्द्रीय मंत्री तोमर
By Swadesh | Publish Date: 26/2/2019 6:37:44 PM
गांवों में समग्र विकास के लिए काम करें पंचायत प्रतिनिधि: केन्द्रीय मंत्री तोमर

ग्वालियर। ग्राम का सरपंच उस गांव का ग्राम सेवक है। इसी भावना से सभी पंचायत जनप्रतिनिधि काम करें। पंचायतीराज व्यवस्था में सभी सरपंच अपनी भूमिकाओं का निर्वहन करें। अब ग्राम पंचायतें विकास कार्य में प्रमुख भूमिका निभा रही हैं। यह बातें मंगलवार को केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने ग्वालियर के भारतीय पर्यटन एवं यात्रा प्रबंधन संस्थान में आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला के शुभारंभ अवसर पर कही। उन्होंने कहा कि बाल कल्याण के क्षेत्र में पंचायतों की क्या भूमिका है। बच्चों के कल्याण के लिए पंचायतों द्वारा क्या प्रयास किए जाने चाहिए। इस विषय पर दो दिवसीय कार्यशाला आयोजित की गई है। 

 
कार्यक्रम की अध्यक्षता विधायक भारत सिंह कुशवाह ने की। इस अवसर पर भारत सरकार के पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के सचिव राहुल भटनागर, संयुक्त सचिव संजीव पटजोशी, संयुक्त सचिव केएस सेठी, एनआईआरडी एण्ड पीआर के डीजी डब्ल्यू आर रेड्डी, मध्यप्रदेश पंचायतीराज विभाग की अपर मुख्य सचिव गौरी सिंह, संचालक उर्मिला शुक्ला, राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो, यूनीसेफ की प्रतिनिधि मिशाकी युएदा, कलेक्टर भरत यादव, जिला पंचायत सीईओ शिवम वर्मा भी मंचासीन थे। इस दो दिवसीय कार्यशाला में देश के आठ राज्यों के पंचायत जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। 
 
कार्यशाला में केन्द्रीय मंत्री तोमर ने कहा कि इस बाल हितैषी पंचायत कार्यशाला का उद्देश्य इस ज्वलंत विषय पर विचार-विमर्श करना है। सभी जनप्रतिनिधियों के जो भी सुझाव आयेंगे, उस पर राज्य और केन्द्र सरकार मिलकर अमल करने का प्रयास करेगी। यदि किसी गाँव में किसी गरीब परिवार में बच्चे का सही पालन-पोषण नहीं हो पा रहा है तो पंचायत यह प्रयास कर सकती है कि एक सक्षम परिवार को उस बच्चे को गोद दिला दें। उन्होंने कहा कि बच्चे देश का भविष्य हैं। इन्हीं के कंधों पर न्यू इंडिया विजिन की जिम्मेदारी होगी। यदि बच्चे स्वस्थ व शिक्षित होंगे, तो वे देश के विकास में भागीदार बनेंगे। पंचायतीराज दिवस के अवसर पर अच्छा कार्य करने वाली पंचायतों को सम्मानित किया जाता है। इसी प्रकार चाईल्ड फ्रेंडली पंचायत को भी पुरस्कृत किया जाएगा। 

बच्चों को अच्छा वातावरण देने का करें प्रयास: विधायक कुशवाह 
कार्यक्रम में विधायक भारत सिंह कुशवाह ने कहा कि पंचायतों को विकास के साथ-साथ सामाजिक सरोकार का काम भी करना चाहिए। बच्चों को अच्छा वातावरण देकर उन्हें अच्छा नागरिक बना सकते हैं। बच्चों के लिए अच्छी शिक्षा के साथ-साथ अच्छा स्वास्थ्य भी जरूरी है। हमें केन्द्र व राज्य सरकार के कार्यक्रमों को धरातल पर उतारने का प्रयास करना है। इसमें ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम पंचायत स्तर पर कड़े कदम उठाए जाना चाहिए।
 
राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने कहा कि केन्द्र सरकार व राज्य सरकार द्वारा बनाई जाने वाली योजनाओं में बच्चों को केन्द्र में रखा जाए। पंचायतों के प्रतिनिधि ग्रामीण स्कूलों में शिक्षक से पाठ्य योजना मांगे। इससे स्कूलों में शिक्षा का स्तर पता चलेगा। पूरी योजना के अनुरूप बच्चों का आंकलन करें। कार्यक्रम के अंत में संयुक्त सचिव केएस सेठी ने सभी का आभार व्यक्त किया। जिला पंचायत सीईओ शिवम वर्मा ने मुख्य अतिथि सहित सभी मंचासीन अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट किए। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS