मध्य प्रदेश
छात्रों की दी योग से विकारों को दूर कर सर्वांगीण विकास की जानकारी
By Swadesh | Publish Date: 12/3/2019 4:08:01 PM
छात्रों की दी योग से विकारों को दूर कर सर्वांगीण विकास की जानकारी

अनूपपुर। योग के विभिन्न आसनों के बारे में छात्रों को प्रशिक्षित करने के उद्देश्य से इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय अमरकटंक के योग विभाग के तत्वावधान में आयोजित पांच दिवसीय कार्यशाला मंगलवार को संपन्न हुई। इस अवसर पर योग के माध्यम से मन और बुद्धि के विकारों को नियंत्रण में रखते हुए स्वयं के सर्वांगीण विकास की राह को प्रशस्त करने के बारे में उपयोगी जानकारी दी गई।

कार्यशाला का आयोजन योग विभाग के बीएससी योग और डिप्लोमा छात्रों के लिए किया गया था। इसमें योग के अलावा छात्रों को संस्कृत संभाषण के बारे में भी प्रशिक्षित किया गया। योगाचार्य मुकुन्द कृष्णन और विशिष्ट अतिथि योगाचार्य स्थाणुमूर्ति ने अष्टांग योग, क्रिया योग, पंचकोश, षड़चक्र, ध्यान, समाधि, अंक गणित, आहार शास्त्र, शरीर रचना जैसे गूढ़ विषयों पर प्रकाश डाला। 
 
समापन कार्यक्रम के अवसर पर कुलपति प्रो. टीवी कटटीमनी ने योग को जीवन का अभिन्न भाग बताते हुए कहा कि दुनियाभर में योग की मांग निरंतर बढ़ रही है ऐसे में छात्रों को योग के विभिन्न आयामों को समझकर इसकी उपयोगिता के बारे में समाज के अन्य वर्गों को भी जानकारी प्रदान करनी चाहिए। उन्होंने समाज में ब$ढते तनाव का जिक्र करते हुए कहा कि योग की विभन्न क्रियाओं जैसे ध्यान और हठ योग से तनाव को काफी कम किया जा सकता है।
 
कार्यशाला में निदेशक (अकादमिक) प्रो.आलोक श्रोत्रिय, डीन प्रो. एनएस हरि नारायण मूर्ति, विभागाध्यक्ष डॉ. मोहनलाल चढ़ार, डॉ. संदीप ठाकरे, डॉ. नीलम श्रीवास्तव, डॉ. श्याम सुंदर पाल सहित लगभग 100 छात्रों, शिक्षकों और कर्मचारियों ने भाग लिया।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS