Ad
मध्य प्रदेश
टीकमगढ़ जिला जल अभावग्रस्त क्षेत्र घोषित, नलकूप खनन प्रतिबंधित
By Swadesh | Publish Date: 3/4/2019 4:20:18 PM
टीकमगढ़ जिला जल अभावग्रस्त क्षेत्र घोषित, नलकूप खनन प्रतिबंधित

टीकमगढ़। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी सौरभ कुमार सुमन ने ग्रीष्मकाल में पेयजल संकट की आशंका को देखते हुए टीकमगढ़ जिले के संपूर्ण क्षेत्र एवं परिसीमा को मध्यप्रदेश पेयजल परिरक्षण अधिनियम के तहत जल अभावग्रस्त क्षेत्र घोषित किया है। इस संबंध में आदेश जारी करते हुए उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति टीकमगढ़ जिले की भौगोलिक सीमा के अंदर सक्षम अधिकारी की अनुज्ञा के बगैर किसी भी प्रयोजन के लिये नवीन नलकूप खनन नहीं करेगा। यह आदेश बुधवार, 03 अप्रैल से लागू हो गया है, जो कि वर्षाकाल आरंभ होने की कालावधि 30 जून 2019 तक जारी रहेगा।

 
जिला दण्डाधिकारी सौरभ कुमार सुमन ने बताया कि टीकमगढ़ जिलांतर्गत वर्ष 2018-19 में 15 सितम्बर 2018 तक औसत वर्षा हुई है, किन्तु विगत 4 वर्षों में हुई अल्पवर्षा के कारण आगामी ग्रीष्मकाल में पेयजल संकट की आशंका है। इसलिये आम जनता को पेयजल एवं निस्तार के लिए जल-आपूर्ति सुनिश्चित करने के उपाय करना आवश्यक है।
 
 
कार्यपालन यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की लिखित अनुशंसा पर मध्यप्रदेश पेयजल परिरक्षण अधिनियम के अंतर्गत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए आम जनता के लिये पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित करने के उद्देश्य से जिले के जल अभाव क्षेत्र घोषित किया गया है, साथ ही नलकूप खनन पर प्रतिबंध लगाया गया है।
 
जारी आदेश में कहा गया है कि कोई भी व्यक्ति टीकमगढ़ जिले की भौगोलिक सीमा के अंदर सक्षम अधिकारी की अनुज्ञा के बगैर किसी भी प्रयोजन के लिये नवीन नलकूप खनन नहीं करेगा। अधिनियम के प्रावधान लागू होने की तिथि से कोई भी व्यक्ति पेयजल स्रोत तथा समस्त नदी, नालों, तालाबों बाबडिय़ों आदि जल-स्रोतों का उपयोग सिंचाई, औद्योगिक अथवा व्यावसायिक प्रयोजन को (जिसमें जिलांतर्गत संचालित समस्त निजी वाहन धुलाई सेंटर भी शामिल है) सक्षम अधिकारी की अनुमति के बगैर पेयजल का दुरुपयोग नहीं करेगा। मध्यप्रदेश पेयजल परिरक्षण अधिनियम के अधीन बने प्रावधानों का उल्लंघन पाये जाने पर अधिनियम की धारा 9 के तहत दण्डनीय होगा, जो दो वर्ष तक के कारावास से या 2 हजार रुपये तक के जुर्माने अथवा दोनों से दण्डित किया जाएगा। यह आदेश 3 अप्रैल 2019 से 30 जून 2019 तक संपूर्ण टीकमगढ़ जिले में प्रभावशील रहेगा।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS