मध्य प्रदेश
देश की जनता कह रही है, महामिलावटी लोगों अब बहुत हुआ: पीएम मोदी
By Swadesh | Publish Date: 13/5/2019 5:33:53 PM
देश की जनता कह रही है, महामिलावटी लोगों अब बहुत हुआ: पीएम मोदी

रतलाम। रतलाम के वीर सपूत ले. धर्मेंन्द्रसिंह ने अपने युद्धपोत में लगी आग बुझाने की कोशिश में सर्वोच्च बलिदान दे दिया। ऐसे ही युद्धपोतों पर नामदारों का परिवार पिकनिक मनाता रहा है। जब इस बारे में सवाल उठते हैं तो वेे बिना डरे बेशर्मी से कहते हैं, हुआ तो हुआ। लेकिन महामिलावटी लोगों का यह अहंकार अब ज्यादा चलने वाला नहीं। देश की जनता कहने लगी है महामिलावटी लोगों अब बहुत हुआ। यह बात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को रतलाम में पार्टी उम्मीदवार जीएस डामोर के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए कही।

 
पीएम मोदी ने कहा क‍ि मध्यम वर्ग को टैक्स बढ़ाने की धमकी, नौजवान के अधिकार कांग्रेस के करीबी छीन रहे हैं, महिलाओं की जिंदगी चूल्हा फूंकते हुए बीत गई। गरीब-आदिवासी, आतंकी हमलों में अपनों को खोने वाले, सब कह रहे हैं महामिलावटी लोगो-अब बहुत हुआ। कांग्रेस के हाथों मध्यमवर्ग का अपमान, वंशवाद, जातिवाद, भाई-भतीजावाद, गरीबों से भद्दा मजाक, आतंकवाद बहुत हुआ। 
 
उन्होंने कहा कि हर सवाल के लिए कांग्रेस का एक ही जवाब होता है-हुआ तो हुआ। ये तीन शब्द कांग्रेस का अहंकार हैं, उसकी विचारधारा है। बोफोर्स घोटाला, पनडुब्बी घोटाला, हेलीकॉप्टर घोटाला, टूजी घोटाला, कोयला घोटाला-हर बात पर कांग्रेसियों का एक ही जवाब है हुआ तो हुआ। कांग्रेस अपने शासनकाल में देश के जवानों को बुलेटप्रूफ जैकेट नहीं दे सकी और जवान अपनी जान गंवाते रहे। भोपाल गैस त्रासदी में हजारों लोग मारे गए। आतंकवादियों के बम धमाकों में लोग मरते रहे, लेकिन कांग्रेस कहती है- हुआ तो हुआ। 
 
आजकल कांग्रेस हिन्दू आतंकवाद का नया शिगूफा गढऩे में लगी है। हमारी महान परंपराओं को बदनाम करने की कोशिशों के चलते असली आरोपित बचते रहे और निर्दोष लोगों का खून बहाया जाता रहा। कांग्रेस इसीलिए राष्ट्रीय सुरक्षा और आतंकवाद जैसे मुद्दों पर बात करने से बचती है। इसीलिए कांग्रेस ने पहले सर्जिकल स्ट्राइक और अब एयर स्ट्राइक पर सवाल खड़े किये। कांग्रेस की इस सोच ने देश का बहुत नुकसान कराया है।
 
उन्होंने कहा कि कांग्रेसी अपने अहंकार में न झूठ बोलने से घबराते हैं और न झूठे वादे करने से। प्रदेश में किसानों की कर्जमाफी का वादा किया था। दस दिनों में कर्जमाफी नहीं हुई तो सीएम को बदल देंगे। अब कर्जदार किसानों के घर वसूली के लिए पुलिस पहुंच रही है। बिजली बिल हॉफ कर देंगे कहा था, लेकिन बिजली सप्लाई हॉफ कर दी। कांग्रेस ने किसानों को ठगा है, क्या उस पर भरोसा किया जा सकता है। एक परिवार, जिसकी चार पीढिय़ों ने 55 सालों तक देश पर शासन किया। देश की जनता को इसी तरह से ठगता रहा है। क्या उस परिवार को फिर से ठगी करने का अधिकार देना चाहिए? पीएम ने कहा कि जिस पैसे से नामदारों के पोस्टर-बैनर लग रहे हैं, वह चोरी और भ्रष्टाचार का माल है। केंद्र सरकार ने जो पैसा गरीब आदिवासी माताओं, कुपोषित बच्चों को पोषण आहार उपलब्ध कराने के लिए भेजा था, वह पैसा कांग्रेस सरकार डकार गई। अब जब छापे पड़ रहे हैं, तो करीबी लोगों के यहां से नोटों से भरे बोरे निकल रहे हैं।
 
उन्होंने कहा कि कांग्रेस और उसके नेताओं का यही अहंकार 12 मई को भोपाल में नजर आया। पूरा देश अपना प्रतिनिधि चुनने के लिए मतदान कर रहा था। लेकिन दिग्गी राजा वोट देने नहीं गए। उन्हें लोकतंत्र की चिंता नहीं है। ऐसा करके उन्होंने हमारे युवा मतदाताओं को यह संदेश दिया है कि वोट डालना जरूरी नहीं। पहली बार वोट देने वाले हमारे युवा सब जानते हैं। मेरा उनसे आग्रह है कि इस चुनाव में कांग्रेस को उसके लोकतंत्र विरोधी रवैये के लिए सजा दें।
 
उन्होंने कहा कि कांग्रेस पूरे चुनाव के दौरान कहती रही कि इस बार कोई लहर नहीं है। लेकिन शुरुआती चरणों के बाद ही उन्हें समझ में आ गया। अब वे चुनाव परिणामों को लेकर नई-नई कहानियां चला रहे हैं। इस चुनाव में समाज के दो वर्गों ने सबसे ज्यादा सक्रियता दिखाई, युवा नवमतदाता और माता-बहनों ने।वोट देने के लिए ये दोनों ही वर्ग पूरी ताकत से बाहर आए और हर घर से एक लहर पैदा हो गई। हमारी सरकार छोटे किसानों के खाते में पैसे डाल रही है, लेकिन मध्यप्रदेश की सरकार ने सूची ही नहीं भेजी। 
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि रामायण काल, महाभारत काल, राजा-महाराजाओं के काल और अंग्रेजों के काल में भी भारत में आदिवासी रहे हैं। लेकिन इनके बारे में कांग्रेस की चार पीढिय़ों को पता नहीं चला। अटलजी की सरकार ने पहली बार आदिवासी कल्याण मंत्रालय बनाया। उनके लिए हमारा प्रयास है कि उनके क्षेत्र में ही उन्हें पढ़ाई, दवाई, कमाई और सिंचाई के संसाधन उपलब्ध कराए जाएं। इसके लिए हमारी सरकार लगातार प्रयास करती रही है। जब तक भाजपा और मोदी हैं, मैं विश्वास दिलाता हूं, किसी आदिवासी के हक को छीना नहीं जाएगा। प्रधानमंत्री ने आदिवासियों से आग्रह किया कि वे उनके नाम पर भ्रम फैलाने वाली कांग्रेस को सजा दें। इस चुनाव में पूरी ताकत से कमल खिलाएं। देश को मजबूत होने के लिए सरकार और चौकीदार का मजबूत होना जरूरी है। अपने चौकीदार को मजबूत करने के लिए हर बूथ पर कमल खिलाएं।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS