Ad
ब्रेकिंग न्यूज़
देश
प्रधानमंत्री मोदी जन्मजात ही अगड़ी जाति से: मायावती
By Swadesh | Publish Date: 15/5/2019 5:01:06 PM
प्रधानमंत्री मोदी जन्मजात ही अगड़ी जाति से: मायावती

मऊ। बसपा सुप्रीमो मायावती ने घोसी लोकसभा सीट पर गठबंधन की ओर से आयोजित चुनावी जनसभा में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मूलरुप से जन्मजात ही अगड़ी जाति के हैं। नगर क्षेत्र के भुजौटी मैदान स्थित चुनावी जनसभा में बुधवार को गठबंधन उम्मीदवार अतुल राय के पक्ष में जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जाति बदलना शुरू कर दिया है। हर तीसरे, चौथे दिन अपनी जाति बदलते रहते हैं। कभी अपनी जाति अति पिछड़ी, कभी गरीब, कभी आती फकीर बताते हैं। जबकि सच्चाई है कि वह जन्मजात पिछड़ा और अति पिछड़ा जाति के नहीं है। वह जन्मजात से ही अगड़ी जाति के हैं। राजनीतिक स्वार्थ के लिए ये सब हथकंडे अपना रहे हैं। 

जनसभा की भीड़ को देख कर मायावती ने कहा कि यह भीड़ गठबंधन को मजबूत करने वाली है। कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि देश आजाद होने के बाद ज्यादातर समय सत्ता कांग्रेस पार्टी के हाथों में रही। उसकी गलत नीतियों के कारण इस पार्टी को सत्ता गंवानी पड़ी। अब भारतीय जनता पार्टी केंद्र की सरकार से बाहर जा रही है। गलत नीतियों के कारण उसकी नाटकबाजी, जुमलेबाजी अब काम आने वाली नहीं है। प्रधानमंत्री ने जो अच्छे दिन दिखाने का प्रोग्राम दिखाया था, उसका एक चौथाई भी काम पूरा नहीं किया है। अपने चहेते पूंजीपतियों को मालामाल बनाने के लिए उन्हीं लोगों की चौकीदारी करने के लिए लगाया है। 
 
उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार है। आवारा जानवरों ने फसल बर्बाद कर किसानों को दुखी कर दिया है। कांग्रेसी सरकार की तरह वर्तमान भाजपा सरकार में भी गरीब, दलित, आदिवासी, मुस्लिम का कोई खास विकास नहीं हुआ। अभी तक पूरे देश में अन्य पिछड़े वर्गों दलितों और आदिवासियों का सरकारी नौकरियों में आरक्षण भी लागू नहीं हुआ। कांग्रेस और बीजेपी व अन्य विरोधी पार्टियों की सरकार में इन पिछड़ी जातियों का भला नहीं हुआ। इनकी सरकार में सिर्फ पूंजीपतियों, धन्ना सेठों को ही लाभ दिया जा रहा है। इन वर्गों का अभी भी उत्पीड़न बंद नहीं हुआ है। 
 
मायावती ने सच्चर कमेटी का भी उल्लेख किया। कहा कि अपर कास्ट के लोगों के साथ इनकी सरकार में गरीब लोगों की हालत खराब है। नोटबंदी, जीएसटी को बिना किसी प्लानिंग के ही लागू कर दिया। उससे पूरे देश में बेरोजगारी, गरीबी और भी बढ़ गयी। इससे छोटे और मध्यम वर्ग के लोग काफी ज्यादा दुखी हैं। देश की अर्थव्यवस्था पर इसका लगातार बुरा असर पड़ रहा है। 
 
मायावती ने आरोप लगाया कि केंद्र की भाजपा सरकार ने अपने देश की सीमाएं पूरी तौर से सुरक्षित नहीं की। आए दिन आतंकी हमले होते हैं। अभी तक बहुत काफी ज्यादा जवान शहीद हो चुके हैं। इसे दुख की बात यह है कि भाजपा के लोग इसे भी भुनाने में लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेसी और बीजेपी व अन्य विरोधी पार्टियों को केंद्र में सत्ता में नहीं आने देना है। सभी विरोधी पार्टी द्वारा सामदंड, भेद भाव सभी हथकंडे अपनाने जा रहे हैं। विरोधी पार्टियों द्वारा जारी घोषणापत्र के प्रलोभन में नहीं आना है। देश की जनता का विश्वास भी टूटता चला जा रहा है। इसीलिए हमारी पार्टी कोई भी घोषणा पत्र जारी नहीं करती। 
 
मायावती ने कहा कि बीजेपी द्वारा अच्छे दिन दिखाए जाने का प्रलोभन देना आज भी पूरा नहीं हुआ। कांग्रेस पार्टी ने भी प्रलोभन दिए। चुनावी वादे किये कि छह हजार रुपये हर महीना देंगे। इससे गरीबी को दूर करने का कोई हल निकलने वाला नहीं है। मायावती ने कहा कि अगर केंद्र में हमें सरकार बनाने का मौका मिलता है तो छह हजार न देने के बजाय लोगों को सरकारी व गैर सरकारी जगहों पर नौकरी देने की स्थायी व्यवस्था करने का काम किया जायेगा। इनके प्रलोभन भरे चुनावी वादे में आने की जरूरत नहीं है। इनको केंद्र की सरकार में आने से जरूर रोकना है। बसपा सुप्रीमो ने कहा कि सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय के आधार पर केंद्र सरकार बनने पर सुविधाएं मुहैया करायी जायेंगी। गठबंधन के सभी लोकसभा उम्मीदवारों को कामयाब बनाना है। 
 
उन्होंने कहा कि गठबंधन के लोगों से कहना चाहूंगा कि अगर आप लोग केंद्र में सरकार बनाना चाहते हैं तो इस गठबंधन की एक-एक सीट को जिताना बहुत जरूरी है। आजमगढ़ मंडल के सभी सीटें हम जरूर जीत जाएंगे। प्रदेश में जितने भी शहर के वोट पड़ चुके। अपने गठबंधन के पक्ष में वोट मिल रहा है। अपार भीड़ बता रही है कि इससे बीजेपी बहुत घबराई हुई है। इनकी नींद भी उड़ी हुई है। 
 
उन्होंने कहा कि बीजेपी और कंपनी के लोगों के गुरु और चेले के 23 मई से बुरे दिन ही शुरू हो जाएंगे। योगी के भी दिन मठ में जाने की तैयारी हो जाएगी। बीजेपी के लोग अपनी जाति बदल रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी अति पिछड़े नहीं हैं, अगड़ी जाति के हैं। वास्तव में मूल रूप से पिछड़ी जाति से आपके बीच में सपा के अखिलेश यादव हैं। यह असली हैं।
 
उन्होंने कहा कि इस हथकंडे के बहकावे में नहीं आना है। अपनी जाति फकीर, गरीब बताने लगे। गरीब लोगों को और भी ज्यादा गरीब बना दिया है। बेरोजगारों को रोजगार नहीं दिया। इनके कार्यशैली से क्या आप लोग इनकों गरीब और फकीर मान सकते हैं। यदि इनकी जाति गरीब फकीर होती तो वास्तव में अपनी सरकार में अति पिछड़ों, गरीबों को फायदा दिया होता। यह सब गठबंधन को कमजोर करना और तोड़ने के लिए षड्यंत्र रचा गया है। बसपा और सपा में भ्रम पैदा करने के लिए वह ऐसा कर रहे हैं, जिसमें इनको बिल्कुल भी सफलता नहीं मिली।
 
उन्होंने कहा कि इनकी गठबंधन के मामले में फूट डालो, राज करो की नीति चलने वाली नहीं है। गठबंधन लंबा चलेगा। कमजोर होने वाला नहीं है। रोजाना पूरी मजबूती के साथ आगे बढ़ता है। केंद्र के साथ-साथ उत्तर प्रदेश में योगी की सरकार को उखाड़ फेंकने तक चुप नहीं बैठेगा। घोसी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे बीएसपी के उम्मीदवार अतुल राय के ऊपर आरोप लगे हैं। जो शादीशुदा होने के साथ-साथ एक शरीफ ईमानदार सामाजिक इंसान भी हैं। वैसे भी महिलाओं के मामले में हमारी पार्टी महिलाओं का आदर और सम्मान करती है। लेकिन भाजपा चुनाव के समय में भी बसपा को बदनाम करने के लिए यह हथकंडा अपना रही है। हमारे उम्मीदवार के साथ भी ऐसा ही किया जा रहा है। उनकी पत्नी और भाई बहनों ने अपील की है। ऐसी स्थिति में आप लोगों की पूरी जिम्मेदारी है कि इनको मुंहतोड़ जवाब देंगे और अपने गठबंधन उम्मीदवार को जीतायेंगे। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS