ब्रेकिंग न्यूज़
कांग्रेस राज में हुई गड़बड़ी की देन है सोनभद्र नरसंहार की घटना: योगी आदित्यनाथउप्र विधानसभा: मुख्यमंत्री बोलते रहे, विपक्षी बेल में पहुंचकर नारेबाजी करते रहे, विधानसभा स्थगितरोज वैली चिटफंड घोटाला मामले में अभिनेता प्रसनजीत से पूछताछचांद तारा के निशान वाले हरे रंग के झंडे पर दो हफ्ते में जवाब दे केन्द्रप्रधानमंत्री ने लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस भाषण के लिए जनता से मांगे सुझावसोनभद्र नरसंहार में घायलों का हालचाल लेने बीएचयू ट्रॉमा सेन्टर पहुंची प्रियंका वाड्राएनआरसी की समय सीमा बढ़ाने का अनुरोधअमेरिकी नेवी ने स्ट्रेट ऑफ होर्मुज क्षेत्र में ईरान का ड्रोन गिराया
देश
भाजपा ने संघीय ढांचे को किया कमजोर: कांग्रेस
By Swadesh | Publish Date: 15/5/2019 6:58:14 PM
भाजपा ने संघीय ढांचे को किया कमजोर: कांग्रेस

नई दिल्ली। कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) की सरकार ने संघीय ढांचे को कमजोर करने का काम किया है। सिंघवी ने पश्चिम बंगाल में अमित शाह के रोड शो में हुई हिंसा की निंदा की और कहा कि यह हिंसा भी भाजपा द्वारा ही कराई गई है।

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने बुधवार को पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले पांच सालों में भाजपा के कार्यकाल में अमित शाह और प्रधानमंत्री मोदी की जोड़ी ने पूरे देश में संघीय ढ़ाचे को कमजोर किया है। सिंघवी ने कहा कि बंगाल में ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति को छति पहुंचाने का कार्य भाजपा द्वारा किया गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा इससे पहले भी कई बार ऐसे कामों को अंजाम दे चुकी है।
 
सिंघवी ने कहा कि भाजपा इससे पहले भी महापुरुषों को अपमानित करती रही है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के टीम के एक सदस्य एच राजा ने केरल में महान समाज सुधारक पेरियार की मूर्ति को क्षति पहुंचाई और भाजपा नेता राम माधव ने इसे जायज ठहराने की कोशिश की।
 
कांग्रेस नेता ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पुतले को गोली मारा गया और भाजपा के कार्यकर्ताओं द्वारा नाथूराम गोडसे की मूर्ति को माला पहनाया गया। सिंघवी ने कहा कि इन उदाहरणों से साफ होता है कि भाजपा ऐसे काम करती रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा के शासनकाल में कई राज्यों को उपेक्षा का शिकार होना पड़ा। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर को 80 हजार करोड़ का पैकेज दिया जाना था पर उसे रोक दिया गया। यहां सिर्फ 31 फीसदी राशि ही दी गई। बिहार सहित आंध्र प्रदेश को भी उपेक्षित किया गया है।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS