देश
बाबा केदार के दरबार में पहुंचे पीएम मोदी, भक्मिमय माहौल में की पूजा
By Swadesh | Publish Date: 18/5/2019 12:11:24 PM
बाबा केदार के दरबार में पहुंचे पीएम मोदी, भक्मिमय माहौल में की पूजा

केदारनाथ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लोकसभा चुनाव की आपाधापी के बाद शनिवार सुबह अपने दो दिवसीय आध्यात्मिक दौरे पर केदारनाथ पहुंचे। प्रधानमंत्री मोदी ने बाबा के दरबार में चौथी बार माथा टेककर करीब 17 मिनट तक विशेष पूजा-अर्चना की। इसके बाद प्रधानमंत्री ने धाम में हो रहे पुनर्निर्माण कार्यों की प्रगति पर अधिकारियों से चर्चा की। नक्शा और फाइलें देखे। रविवार को वो बदरीनाथधाम पहुंचकर भगवान के दर्शन करेंगे और दोपहर बाद दिल्ली लौट जाएंगे। 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के तीर्थ पुरोहित प्रवीण तिवारी और बीकेटीसी के आचार्य ओमकार शुक्ला ने पूजा और अभिषेक संपन्न कराया। इसके बाद वो मंदिर से बाहर आ गए। यहां उन्होंने मंदिर के बाहर विराजमान बाबा नंदी और केदारपुरी को प्रणाम किया। इसके बाद मंदिर की परिक्रमा की। परिक्रमा कर रहे भक्तों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया। परिक्रमा के बाद प्रधानमंत्री को बदरी-केदारनाथ मंदिर समिति के पदाधिकारियों ने शाल ओढ़ाया और श्रीकेदारनाथ मंदिर का लकड़ी से बना स्मृति चिह्न भी भेंट भी किया। साथ ही महिला समूहों द्वारा स्थानीय उत्पादों से तैयार प्रसाद भी भेंट किया। 

प्रधानमंत्री मोदी की उत्तराखंड और केदारनाथ धाम के प्रति अगाध आस्था है। प्रधानमंत्री बनने के बाद वह कई  यात्रायें कर चुके हैं। केदारपुरी का पुनर्निर्माण उनके ड्रीम प्रोजक्ट में शामिल है। वह खुद इसकी मॉनीटरिंग करते रहे हैं। इसका नतीजा है कि 2013 की आपदा में तबाह केदारपुरी अब नए कलेवर में निखर चुकी है। 

प्रदेश की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, डीजीपी अनिल रतूड़ी सहित अन्य अधिकारियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत करने जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचे। प्रधानमंत्री का वायुसेना का विशेष विमान सुबह करीब आठ बजकर 27 मिनट पर पहुंचा। कुछ देर बाद वो जौलीग्रांट एयरपोर्ट से सेना के हेलीकॉप्टर से केदारनाथ के लिए रवाना हुए। करीब सुबह नौ बजकर 37 मिनट पर उनका हेलीकॉप्टएर केदारनाथ में उतरा। 

डेढ़ क्विंटल का अर्पित किया घंटा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने केदारनाथधाम पर बाघाम्बर प्रि‍ंंट का अंग वस्‍त्र और घंटा भी अर्पित किया। घंटे का वजन करीब डेढ़ क्विंटल है। धर्म के जानकार बताते हैं कि जब किसी व्यक्ति की मनोकामना पूरी हो जाती है, तो वह घंटे या घंटियां मंदिर में चढ़ाते हैं। 

चौथी बार पहुुंचे केदारनाथ  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को चौथी बार बाबा केदार के दर्शनों को केदारपुरी पहुंचें। इससे पहले वह तीन बार 3 मई 2017, 20 अक्‍टूबर 2017 और 7 नवंबर 2018 को केदारनाथ आ चुके हैं। पिछली बार केदारनाथधाम के कपाट खुलने और बंद होने के अवसर पर वह मौजूद रहे थे।

गुफा में ध्यान लगाएंगे मोदी 

प्रधानमंत्री केदारनाथ मंदिर परिसर से डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर स्थित गुफा में शाम के समय ध्यान भी लगाएंगे। यहां दो गुफायें हैं। प्रधानमंत्री ध्यान लगाकर इनका उद्घाटन करेंगे। इस गुफा की ऊंचाई समुद्र तल से करीब 12,250 फीट है। इसे रुद्र गुफा का नाम दिया गया है। इसका निर्माण प्रधानमंत्री के निर्देश पर हुआ है। 

इससे पहले गरुड़चट्टी में की थी साधना 

प्रधानमंत्री ने एक बार केदारनाथ के नजदीक ही गरुड़चट्टी में साधना की थी। 

गढ़वाली पोशाक में मोदी 

प्रधानमंनी नरेंद्र मोदी यहां गढ़वाली पोशाक में पहुंचे।  साथ ही सिर पर हिमाचली टोपी लगाए हैं। कमर में भगवा गमछा बांधा हुआ है। उन्होंने हल्के नीले रंग के चोला पहना हुआ है। 

केदारनाथ में करेंगे रात्री विश्राम 

प्रधानमंत्री के केदारनाथ धाम में रात्रि प्रवास के साथ ही बाबा केदार की यात्रा में एक नया अध्याय भी जुड़ जाएगा। यह पहला मौका होगा जब देश के प्रधानमंत्री धाम में रात्रि प्रवास करेंगे। अगले दिन सुबह पूर्जा-अर्चना के बाद वो बदनीनाथ के लिए रवाना होंगे। वहां वो सवा घंटा रहेंगे। फिर देहरादून के लए रवाना होंगे। 

सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त 

प्रधानमंत्री की यात्रा के मद्देनजर केदारनाथ के इतिहास में पहली बार रात को सुरक्षाकर्मियों का कड़ा पहरा होगा। मंदिर के आसपास का एरिया जीरो जोन घोषित किया गया है। केदारनाथ के पुजारियों, सुरक्षाकर्मियों, मंदिर समिति के अधिकारियों के अलावा चुनिंदा लोगों को ही ठहरने की इजाजत है। एसपीजी के करीब 80 सदस्य केदारनाथ में प्रधानमंत्री की सुरक्षा में तैनात हैं। इसके अलावा 11 सीओ, 70 निरीक्षक समेत 600 से अधिक पुलिस जवानों को तैनात किया गया है। 

प्रधानमंत्री का कार्यक्रम 

18 मई 2019

12:45 बजे रेस्ट हाउस और नाइट स्टे 

19 मई 2019

सुबह 7:00 बजे मदिर आगमन  

8:00 बजे तक पूजा-अर्चना  

8:55 बजे बदरीनाथ रवाना

बदरीनाथ में पूजा-अर्चना और दर्शन  

10:50 बजे जौलीग्रांट एयरपोर्ट के लिए रवाना 

11:30 बजे जौलीग्रांट से दिल्ली के लिए प्रस्थान

COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS