देश
कश्मीर घाटी में धीरे-धीरे पटरी पर लौट रहा जनजीवन
By Swadesh | Publish Date: 22/8/2019 1:24:21 PM
कश्मीर घाटी में धीरे-धीरे पटरी पर लौट रहा जनजीवन

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में सामान्य जनजीवन अब धीरे-धीरे पटरी पर लौट रहा है। सोमवार को कश्मीर घाटी में 190 प्राथमिक स्कूलों के खुलने के बाद बुधवार को प्रशासन ने घाटी के 774 माध्यमिक स्कूलों को भी खोल दिया था। इसके बाद अब प्रशासन शांत माहौल को देखते हुए कॉलेजों को भी खोलने पर विचार कर रहा है। हालाकि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि कब खोले जाएंगे। 

बुधवार को माध्यमिक स्कूल खोले तो गए लेकिन इनमें छात्रों की संख्या कम ही देखने को मिली लेकिन गुरुवार को स्कूलों में छात्रों की सख्या में बढ़ोतरी हुई। इस बीच गुरुवार को भी डल झील में सब्जी मंडी लगी, जहां लोग बिना भय के खरीदारी करते दिखे। इस दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए घाटी के चप्पे-चप्पे पर सुरक्षाबल के जवानों को तैनात किया गया है। कश्मीर घाटी में शिक्षा संस्थान अनुच्छेद-370 व 35ए को जम्मू कश्मीर से समाप्त करने के बाद से बंद कर दिए गए थे।
 
कश्मीर घाटी के साथ ही अब राजौरी, पुंछ और डोडा जिलों में भी स्थिति सामन्य होती नजर आ रही है। इन जिलों में भी अब चरणबद्ध तरीके से प्रशासन द्वारा दिन का प्रतिबंध हटा लिया गया है। वहीं जम्मू समेत पांच जिलों में पहले से ही स्थिति शांतिपूर्ण बनी हुई है। हालांकि पूरे जम्मू कश्मीर में अभी मोबाइल इंटरनेट सेवा बहाल नहीं की गई है।
 
कश्मीर घाटी में बीते दिनों में प्राथमिक एवं माध्यमिक स्कूलों के खुलने के क्रम में यहां 50 पुलिस थाना क्षेत्रों में दिन का प्रतिबंध पूरी तरह से हटा लिया गया है। इसके चलते ज्यादातर दुकानें खुली  हुई हैं। सड़कों पर वाहन आम दिनों के मुकाबले ज्यादा नजर आ रहे हैं, हालाकि अभी व्यापारिक प्रतिष्ठान कुछ ही स्थानों पर खुले दिखाई दिए। ज्यादातर सड़कों से कंटीले तार हटा लिए गए हैं तथा सरकारी कार्यालयों में भी कामकाज सामान्य रूप से जारी है। इन सबके बावजूद बुधवार को इस शांत माहौल में अशांति फैलाने के लिए कुछ शराती तत्वों ने पत्थराव किया तथा दुकानें बंद करवाने के इरादे से दुकानदारों से मारपीट भी की। प्रशासन ने श्रीनगर के भीतरी हिस्सों विशेषकर डाउन-टाउन में स्कूलों को कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए बंद रखा है। इसी बीच बारामुला जिले के कुछ इलाकों में फिलहाल पाबंधियों में राहत नहीं दी गई है। कश्मीर घाटी में फिलहाल मोबाइल, इंटरनेट तथा ब्रॉडबैंड बंद रखा गया है, जबकि प्रशासन ने 72 हजार लैंडलाइलन सेवाओं को बहाल कर दिया है।
 
दूसरी तरफ जम्मू सहित उधमपुर, सांबा, रियासी, कठुआ जिलों में स्थिति नियंत्रण में तथा शांतिपूर्ण बनी हुई है। यहां पर सभी दुकानें, व्यापारिक प्रतिष्ठान, शिक्षा संस्थान तथा हर प्रकार का यातायात सामान्य रूप से खुला है। राजौरी, पुंछ, डोडा और किश्तवाड़ में भी स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही है। इन जिलों में स्कूल खुले हैं लेकिन मोबाइल तथा मोबाइल इंटरनेट सेवा फिलहाल बंद है। इस दौरान कोई भी अप्रिय घटना न हो इसे सुनिश्चित करने के लिए सुरक्षाबलों के जवान सतर्क हैं।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS