Ad
ब्रेकिंग न्यूज़
झारखंड: एसपी अमरजीत बलिहार हत्याकांड में दो नक्सलियों को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजाअमेरिकियों को तिब्बत जाने से रोकने वाले चीनी अधिकारियों की वीजा पर रोकचिनाब नदी जलविद्युत परियोजनाओं का पाकिस्तान विशेषज्ञ को करना था निरीक्षणइस बैडमिंटन खिलाड़ी के साथ शादी के बंधन में बंधेंगी साइना नेहवालदिल्ली: सरोगेसी सेंटर की आड़ में चल रहा था बच्चे बेचने का गोरखधंधा, मास्टर माइंड समेत 10 गिरफ्तारव्यापारियों के खिलाफ दर्ज मुकदमे वापस लेने पर विचार करेगी योगी सरकारस्कूल में कोयले से पेंटिंग करती थी ये बॉलीवुड सुपर स्टारचीनी उद्योग को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने दिया 4,500 करोड़ के वित्‍तीय पैकेज का तोहफा, चीनी निर्यात पर मिलेगा इंसेंटिव
देश
हरियाणा: राष्ट्रपति से सम्मानित छात्रा से 12 लड़कों ने किया गैंगरेप, न्याय के लिए भटक रहा परिवार
By Swadesh | Publish Date: 14/9/2018 11:02:59 AM
हरियाणा: राष्ट्रपति से सम्मानित छात्रा से 12 लड़कों ने किया गैंगरेप, न्याय के लिए भटक रहा परिवार

नई दिल्ली। हरियाणा के रेवाड़ी जिले में राष्ट्रपति द्वारा सम्मानित एक 19 साल की छात्रा के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है। गुरुवार सुबह छात्रा अपने घर से कोचिंग के लिए निकली थी, तभी कनीना बस अड्डे के पास उसी गांव के रहने वाले तीन युवकों ने उसे लिफ्ट देने के बहाने किडनैप कर लिया। किडनैपिंग की वारदात को अंजाम देने के बाद 12 लड़कों ने छात्रा के साथ गैंगरेप किया। 
 
जानकारी के मुताबिक, गाड़ी में लिफ्ट देने के बाद पंकज, मनीष और नीसु नाम के तीन युवकों ने छात्रा को नशीला पानी पिलाया और बेहोश किया। इसके बाद तीनों युवक छात्रा को अगवाकर महेन्द्रगढ़ जिले की सीमा से दूर झज्जर जिले की सीमा के खेतों में बने एक कुएं पर ले गए, जहां और भी लोग मौजूद थे और नशे की हालत में सभी ने उसे अपनी हवस का शिकार बनाया और वापस शाम करीब 4 बजे वही कनीना बस अड्डे पर बेसुध हालत में फेंककर वहां से रफू चक्कर हो गए।
 
छात्रा के साथ रेप की वारदात को अंजाम देने वाले युवकों में से ही एक युवक ने छात्रा के घर पर फोन करके इस बात की जानकारी दी वह बस अड्डे पर बेसुध हालात में पड़ी हुई है। फोन पर जानकारी मिलते ही मौके पर बस अड्डे पहुंचे छात्रा के परिजनों ने जब उसको देखा तो वह हैरान रह गए और पुलिस को मामले की जानकारी दी।
 
छात्रा रेवाड़ी जिले की ही रहने वाली है, इसलिए उसके परिजनों ने इस मामले की जानकारी वही के थाने में दर्ज कराई। रेवाड़ी की महिला पुलिस ने जीरो FRI दर्ज़ कर उसे कनीना (महेंद्रगढ़) थाने भेज दिया। कनीना थाने से भी पीड़ित परिजनों को यह कहकर वापस लौटा दिया की यह मामला उनकी सीमा क्षेत्र से बाहर का है। पीड़ित परिवार का कहना है कि बेटी के लिए वह जगह-जगह न्याय की भीख मांग रहा है, लेकिन पुलिस और प्रशासन में इसकी सुनवाई करने वाला कोई नहीं है। 26 जनवरी 2016 को छात्रा को राष्ट्रपति ने पढ़ाई में अच्छे नंबर लाने के लिए सम्मानित किया था। इस मामले में परिजनों के बयान सामने आने के बाद पुलिस प्रशासन चुप्पी साधे हुए हैं।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS